झारखण्ड: मुख्यमंत्री ने उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग की समीक्षा की – कॉलेजों के रिक्त पद भरें

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग

उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर कार्य योजना बनानी होगी अन्यथा हमें राज्य के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने में मुश्किल होगी

झारखण्ड के बच्चे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ग्रहण कर सकें यह सुनिश्चित हो

विभिन्न कॉलेज में रिक्त पद जल्द भरें जाएँ

हेमन्त सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड 

रांची. मुख्यमंत्री ने उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के समीक्षा बैठक में कहा – उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर योजना बनानी होगी अन्यथा हम राज्य के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं दे सकेंगे. झारखण्ड के विभिन्न विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए कुलपति के साथ बैठक कर, नियुक्ति में आ रही अड़चनों को यथाशीघ्र दूर करें. ताकि छात्रों की शिक्षा में किसी तरह की बाधा उत्पन्न ना हो. विभिन्न कॉलेजों में लाइब्रेरी की स्थिति ठीक नहीं है, उसे ठीक करें. 

ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन लाइब्रेरी और छात्रों की मांग के अनुरूप पुस्तकों की उपलब्धता होनी चाहिए. विश्वविद्यालय प्रबंधन देश के अन्य राज्यों में बच्चों को दी जा रही शिक्षा के विभिन्न माध्यमों का आंकलन करे, जिससे यहां के छात्रों को भी बेहतर शिक्षा से आच्छादित किया जा सके. मुख्यमंत्री ने उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को तमाम निदेश दिए. 

राज्य के बच्चों को प्राथमिकता मिले 

समीक्षा बैठक के क्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य में पीपीपी मोड पर स्थापित होने वाली संस्थानों की दिशा में किये गए कार्यों की जानकारी प्राप्त की. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि विभाग स्थापित निजी विश्वविद्यालयों या संस्थानों को सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं से अवगत कराएं. यह तय हो कि इन संस्थानों/ विश्वविद्यालयों में झारखण्ड के अधिक बच्चे पढ़ सकें. 

बोकारो महिला कॉलेज की स्थिति सुधारें 

मुख्यमंत्री में कहा कि बोकारो महिला कॉलेज की स्थिति सुधारें. सेल से वार्ता कर भवन लें और उस भवन में महिला कॉलेज को शिफ्ट करें. निर्मित अभियंत्रण कॉलेज के भवनों का उपयोग करें. जहां इंजीनियरिंग की पढ़ाई नहीं हो रही है वहां उसे डिग्री कॉलेज की पढ़ाई में उपयोग करें. इससे पूर्व क्षेत्र के बच्चों की मांग का आंकलन अवश्य करें, तत्पश्चात निर्णय लें. 

भवन सम्बंधित परियोजनाओं की ली जानकारी

मुख्यमंत्री ने विभागन्तर्गत नव निर्मित, निर्माणाधीन महाविद्यालयों, पॉलिटेक्निक संस्थानों, महिला महाविद्यालयों की स्थापना संबंधी परियोजनाओं की जानकारी ली. साथ ही, शिक्षा में गुणवत्ता को समाहित करने के लिए झारखण्ड एजुकेशन ग्रिड का प्रेजेंटेशन देख अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया. 

बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री के.के खंडेलवाल, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, निदेशक उच्च शिक्षा श्री ए. मुथु कुमार, निदेशक तकनीकी शिक्षा श्री अरुण कुमार, विशेष सचिव श्री कमलेश्वर प्रसाद,उ प निदेशक डॉ विभा पांडे एवं अन्य उपस्थित रहे.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.