केंद्रीय गृह मंत्री

निशिकांत फ़र्ज़ी डिग्री मामले में सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र क्यों नहीं लिखते बाबूलाल?

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

किसी पर भी गलत आरोप लगाकर सीबीआई जांच की मांग करने में माहिर भाजपा नेता, निशिकांत फ़र्ज़ी MBA डिग्री पर भी केंद्रीय गृह मंत्री से करें जांच की मांग

रांची। प्रदेश भाजपा नेताओं की ओछी राजनीति लगातार झाऱखंड की जनता के समक्ष आ रही है। बीते दिनों एक महिला के आड़ में भाजपा के कद्दावर नेताओं (बाबूलाल मरांडी, निशिकांत दुबे) ने मुख्यमंत्री पर कथित तौर पर गलत आरोप लगाये थे। हालांकि इस आरोप की सच्चाई सामने आ गयी है। पीड़िता ने खुद सामने आकर भाजपा नेताओं पर उनकी बातों को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाया है। अपनी गंदी राजनीति सामने आते देखे भाजपा नेता बाबूलाल उस महिला की सुरक्षा देने की मांग करने लगे हैं। 

उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री सहित कई आला अधिकारियों को एक पत्र लिख महिला को सुरक्षा देने की मांग की है। उनका तर्क है कि लड़की पर दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि ऐसा करने से पहले बाबूलाल को अपने पार्टी नेताओं के करतूतों पर भी नजर डालनी चाहिए। हेमंत पर लगे आरोप तो निराधार साबित हुए है, लेकिन उनके प्रिय नेता निशिकांत दुबे ने जिस तरह से फर्जी MBA डिग्री के सहारे झारखंड की जनता को गुमराह किया, उसकी जांच तो होनी ही चाहिए। आखिर क्यों नहीं, बाबूलाल इस फर्जी डिग्री मामले में सीबीआई जांच की मांग के लिए एक पत्र केंद्रीय गृह मंत्री को लिखते है। 

फर्जी डिग्री मामले में निशिकांत पर हो चुका है प्राथमिकी दर्ज

यह बड़े शर्म की बात है, भाजपा के शीर्ष नेता जहां देशभक्ति की बड़ी-बड़ी बातें करते है, वहीं पार्टी के नेता चुनावी हलाफनामे में फर्जी तरीके से अपनी फर्जी डिग्री की जिक्र कर देश को गुमराह भी करते है। यह शख्स कोई और नहीं, बल्कि गोड्डा के भाजपा सांसद निशिकांत दुबे है। आरटीआइ के तहत प्राप्त जानकारी के अनुसार, निशिकांत दुबे की एमबीए की डिग्री फर्जी साबित हुई है।

ज्ञात हो कि बीते जुलाई 2020 को दिल्ली यूनिवर्सिटी फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्ट्डीज के लेटर पैड पर झारखंड पुलिस को संबोधित करते हुए जो पत्र लिखा गया था। उसमे जिक्र था कि दिल्ली विश्वविद्यालय से 1993 में निशिकांत दुबे नाम के किसी भी व्यक्ति ने पार्ट टाइम एमबीए की डिग्री हासिल नहीं की है। फर्जी डिग्री मामले को लेकर देवघर स्थित नगर थाना में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी थी। 

मुख्यमंत्री पर लगे आरोप का सच आया सामने, अब निशिकांत का सच भी सामने लाये बाबूलाल

मुख्यमंत्री पर जो कथित आरोप भाजपा नेताओं द्वारा लगाया था, वह अब गलत साबित हो गया है। लेकिन अभी निशिकांत दूबे का सच सामने आना बाकी है। यह सच तो कोई भी ला सकता है, लेकिन किसी पर भी गलत आरोप लगाकर सीबीआई जांच करने में भाजपा नेता काफी माहिर है। ऐसे में भाजपा सांसद के फ़र्ज़ी डिग्री का सच सामने लाने का भी प्रयास उन्हें ज़रूर करना चाहिए, वह भी तब, जब दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा फ़र्ज़ी डिग्री की बात की पुष्टि कर दी गयी हो।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.