जीटीएम मॉल ने खोली निशिकांत दुबे की एक और फर्जीवाड़े की पोल!

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
जीटीएम मॉल

जीटीएम मॉल ने खोली निशिकांत दुबे की एक और फर्जीवाड़े की पोल, शायद विवादों से बचने के लिए निशिकांत ले रहे हैं मीडिया का सहारा!

अपने जमीन पर बने जीटीएम मॉल को विवादों से बचाने के लिए निशिकांत अपना रहे हैं हथकड़े, मीडिया के सहारे गलत कामों को सही ठहराना चाहते हैं भाजपा सांसद निशिकांत दूबे

निशिकांत से जुड़ रहा है बिहार में शुरू हुए News4asia पोर्टल का संबंध 

राँची। गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दूबे छह माह से अपने निम्न स्तर के जुबान को लेकर चर्चा में रहे हैं। कभी एमबीए फ़र्ज़ी डिग्री का मामला में विवादों में घिरे तो कभी गलत कुकर्मो की वजह से घिरे गए। उनकी राजनैतिक विचारधारा के नैतिकता का पतन इस स्तर तक हुआ कि उन्होंने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर कथित तौर पर गलत आरोप लगाने से भी नहीं चूके, जहाँ वह बुरी तरह फंस गए हैं। और इन्हीं ओच्छे बयानों व कुकर्मों के कारण मीडिया में चर्चा का विषय बने हुए हैं। अभी यह मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि फिर वह एक नए मामले में घिरते नजर आ रहे हैं। 

लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ कहे जाने वाले मीडिया का प्रयोग निशिकांत एक हथियार के रूप में, अपने गलत कामों को सही ठहराने के लिए करते नजर आ रहे है। मामला उनके गृह जिला बिहार के भागलपुर से जुड़ा है, जहां वे अपने जमीन पर बने मॉल को विवाद से बचाने का प्रयास करते दीख रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में हलचल है कि गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने News4asia नामक न्यूज पोर्टल की शुरूआत की है। और इस पोर्टल के संचालन व प्रबंधन का जिम्मा दागदार चेहरे को सौपी है। 

ज्ञात हो उस चेहरों को भागलपुर के प्रतिष्ठ मीडिया घराने ने कई आरोप लगाकर बाहर का रास्ता दिखाया है। उस बर्खास्त एडिटर का नाम ”लक्ष्मी कांत दुबे” बताया जा रहा है। चर्चा तो यह भी है कि वह एडिटर, लक्ष्मी कांत दूबे गोड्डा सांसद निशिकांत दूबे के नज़दीकी रिश्तेदार हैं। 

सांसद महोदय के जमीन पर बना मॉल हो रहा है विवादित

भागलपुर में सांसद निशिकांत दूबे पर अब बिहार, उनके गृह जिले में कई आरोप लगने लगे है। इसी कड़ी में भागलपुर जमीन विवाद मामला प्रमुखता से सामने आया है। कहा जा रहा है कि गोड्डा सांसद महोदय मीडिया का सहारा लेकर अपने कारनामों को सही ठहराने का प्रयास कर रहे है। बता दें कि बीते ही दिनों भागलपुर में निशिकांत दूबे पर एक बड़ा आरोप लगा है। आरोप उनके गृह जिला बिहार के भागलपुर की जमीन पर बन रहे मॉल-दुकान को लेकर है। स्थानीय पुलिस ने सांसद के जमीन पर बन रहे मॉल-दुकान की जांच शुरू किया है। 

जीटीएम मॉल के 70 फीसदी दुकानों में सृजन घोटाले का पैसा लगे होने का है आरोप

मीडिया में यह बात सामने आयी है कि भागलपुर के एसएसपी मनोज कुमार ने बिहार के भागलपुर निवासी, गोड्डा सांसद की जमीन पर बन रहे जीटीएम मॉल और दुकान की जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस मॉल में बन रहे दुकानों को बुक करने वाले का नाम व स्थायी पता खंगाल रही है। दरअसल पुलिस को खबर मिली है कि मॉल में 70 फीसदी दुकानों में, बिहार की चर्चित सृजन घोटाले के आरोपियों का पैसा लगा है। खबर यह भी है कि इस मॉल में सृजन घोटाले की सरगना मनोरमा देवी ने खुद अपने और संस्था के नाम से करोड़ों की दुकानें बुक कराई थी। ऐसे में इस पुलिसिया जांच में कई लोगों के साथ सांसद महोदय की भी परेशानी बढ़ सकती है। 

भागलपुर जीटीएम मॉल विवाद और यहीं से बर्खास्त एडिटर को नौकरी देना संदेह के घेरे में

सोशल मीडिया (ट्विटर) पर News4asia की खबरों पर नजर डालें, तो पता चलता है कि यह चैनल पूरी तरह से भाजपा समर्थकों व नेताओं पर मेहरबान है। वहीं महागठंबधन नेताओं के खबरों को यह पोर्टल तरजीह ही नहीं देता। अपने ग़ृह जिले में निशिकांत दूबे किसी तरह के विवाद में नहीं फंसना चाहते है। ऐसे में उन्होंने यहीं के एक प्रतिष्ठित मीडिया घराने से बर्खास्त किये गए पूर्व एडिटर को पोर्टल में सर्वोच्च जगह देकर भाजपा सांसद शायद अपनी राह आसान बनाने चाहते हैं। जो कथित तौर पर इनके रिश्तेदार भी हैं।

बहरहाल,  News4asia पोर्टल द्वारा भाजपा नेताओं को तरजीह के साथ उपरोक्त सारे समर्थित सकारात्मक कदम उठाया जाना, निशिकांत दूबे की फर्जीवाड़ा की एक नयी कहानी का पर्दाफ़ाश कर रही है।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.