झारखण्ड : पीएम-सीएम ने देवघर एयरपोर्ट को सामूहिक प्रयास का हिस्सा बताया गया

झारखण्ड : पीएम-सीएम द्वारा देवघर एयरपोर्ट को सामूहिक प्रयास का हिस्सा बताया जाना, सांसद महोदय के एकला चलो, सारा श्रेय खुद लेने वाली मंशा पर पानी फेर दिया है. रघुवर दास भी दूर मायूस खड़े दिखे.

रांची : देवघर एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवा से जोड़ने की कवायद, तत्कालीन झारखण्ड के राज्य समन्वय समिति के अध्यक्ष दिसुम गुरु शिबू सोरेन, उप मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन, सहकारिता मंत्री हाजी हुसैन अंसारी, सांसद निशिकांत दुबे, देवघर व सारठ के विधायक की मौजूदगी में, तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा द्वारा हुआ था. झारखण्ड के विकास में यह एक सम्यक प्रयास है. तब यह भी कहा गया था कि बाबाधाम के साथव गिरिडीह के पारसनाथ में भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर से लोग आते हैं. लेकिन, पूर्व के रघुवर सरकार में सपना सच न हो पाया.

हेमन्त सोरेन ने तब कहा था मील का पत्थर होगा देवघर एयरपोर्ट

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने तब कहा था कि देवघर एयरपोर्ट क्षेत्र के विकास में मील का पत्थर साबित होगा. शिलान्यास कर सपना तब अत्यधिक खुशी देगी जब रांची की तरह देवघर से भी उड़ानें भरी जाएगी. योजना को धरातल पर उतारने में सांसद के प्रयास को सरहा था. और कहा था कि यहां की युवा पायलट बन सकेंगे. साथ ही सांसद द्वारा उठाए गए केंद्रीय सहायता पर कहा था कि राज्य सरकार को केंद्र से अनुदान लेने का अधिकार है. ताली एक हाथ से नहीं बजती है. तत्कालीन कल्याण मंत्री द्वारा ने कहा था कि झामुमो सुप्रीमो गुरुजी, उप मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन समेत सबका सहयोग रहा है.

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन द्वारा द्वारा प्रधानमंत्री का किया गया जोहार-अभिनन्दन 

सीएम हेमन्त सोरेन द्वारा लोकतंत्र के सम्मान में पीएम के स्वागत व्यवस्था का जायजा लिया गया. सीएम द्वारा प्रधानमंत्री का जोहार-अभिनन्दन किया गया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि किसी भी राज्य के विकास में मार्गों की अहम भूमिका होती है. चाहे वो सड़क मार्ग हो, हवाई मार्ग हो या फिर जल मार्ग. लगभग एक दशक पहले देवघर एयरपोर्ट को लेकर देखा हुआ सपना आज चिरतार्थ हुआ है. इसके लिए मैं माननीय प्रधानमंत्री जी को अनेक-अनेक धन्यवाद देता हूँ. झारखण्ड के साहिबगंज में भी जल मार्ग शुरू करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी को हार्दिक धन्यवाद और आभार. 

मुख्यमंत्री ने कहा वर्षों से झारखण्ड राज्य पिछड़ा रहा है. अब यह केंद्र और राज्य सरकार के सामूहिक प्रयास से आगे बढ़ रहा है. केंद्र सरकार का सहयोग मिलेगा तो वादा है झारखण्ड को विकास और सामाजिक सुरक्षा के पैमाने में अग्रणी राज्यों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दूँगा. किसी भवन को बनाने के लिए मजदूरों की नितांत आवश्यकता होती है. मगर भवन बनने के बाद मजदूरों को भुला दिया जाता है. झारखण्ड देश को अग्रणी बनाने के लिए बरसों से अपना छाती फाड़ कर खनिज सम्पदाएँ उपलब्ध करा रहा है. 

पीएम द्वारा देवघर एयरपोर्ट को बताया गया सामूहिक प्रयास का हिस्सा

प्रधानमंत्री ने बाबा वैद्यनाथ नगरी 16 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया. उनके द्वारा कहा गया कि झारखण्ड की आधुनिक कनेक्टिविटी, ऊर्जा, स्वास्थ्य, आस्था और पर्यटन को बहुत अधिक बल मिलने वाला है. राज्यों के विकास से राष्ट्र का विकास है. पीएम द्वारा देवघर एयरपोर्ट को सामूहिक प्रयास का हिस्सा बताया गया. विडंबना रही कि सांसद निशिकांत दुबे द्वारा सामूहिकता को बल देने वाला कोई बयान सामने नहीं आया. ऐसे में प्रतीत होता है कि सांसद महोदय का इसके पीछे की मंशा सारा श्रेय केवल भाजपा को देने हो. लेकिन पीएम द्वारा सामूहिक श्रेय कहा जाना उनके मंशा पर पानी फेर दिया है.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.