भारतीय महिला हॉकी टीम की झारखंडी शेरनियों को मिलेंगें 50 – 50 लाख – हेमंत सरकार 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
भारतीय महिला हॉकी टीम

भारतीय महिला हॉकी टीम भले ही कांस्य की जंग जीतते-जीतते रह गयी, लेकिन अपने खेल से देश का दिल जीत लिया. हेमंत सरकार ने फैसले को बदलते हुए राज्य की बेटियों को दिए 50-50 लाख

टोक्यो ओलिम्पिक में देश की महिला हॉकी टीम भले ही कांस्य पदक से वंचित रही, लेकिन देश की बेटियों ने इस मैच में पिछले ओलिम्पिक प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक विजेता रही ग्रेट ब्रिटेन की टीम को निस्संदेह कड़ी टक्कर दी, जो काबिले तारीफ है. मैं पूरी भारतीय महिला हॉकी टीम को लाजवाब प्रदर्शन के लिए सलाम करता हूं. प्रतिस्पर्धा में झारखण्ड की बेटियां, मेरी बहनों का प्रदर्शन शानदार रहा, अद्भुत योगदान दिया. झारखण्ड सरकार ने ओलिंपिक शुरू होने से पहले ही घोषणा की थी कि राज्य के खिलाड़ियों को स्वर्ण जीतने पर दो करोड़, रजत जीतने पर एक करोड़ और कांस्य जीतने पर पचास लाख रुपये देगी. 

भारतीय महिला हॉकी टीम भले ही कांस्य की जंग जीतते-जीतते रह गयी, लेकिन अपने खेल से देश का दिल जीत लिया

भारतीय महिला हॉकी टीम भले ही कांस्य की जंग जीतते-जीतते रह गयी. लेकिन इन बेटियों ने अपने खेल से देश का दिल जीत लिया. भारतीय महिला हॉकी टीम में शामिल झारखण्ड की बेटियों के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने पूर्व के फैसले को संशोधित करते हुए 50-50 लाख  रुपये देने का फैसला लिया है. साथ ही सभी के पैतृक घर को पक्के मकान में तब्दील करायेगी. भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफाइनल में पहुंच कर इतिहास रच दिया है. उन्होंने अपने जज्बे से साबित किया है कि वह दुनिया की बेहतर से बेहतर टीम को टक्कर देने का माद्दा रखती है. 

मुख्यमन्त्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि भारतीय महिला टीम को इस मुकाम तक पहुंचाने में खिलाड़ी, कोच और सपोर्ट स्टाफ का अतुलनीय योगदान है.  उन्होंने कहा-मैं और पूरा झारखण्ड सभी के प्रति दिल की गहराइयों से आभार व्यक्त करता हूं तथा उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए बधाई और भविष्य के लिये शुभकामनाएं देता हूं. झारखण्ड सरकार खेल के क्षेत्र में आगे आने वाले खिलाड़ियों को हर प्रकार की सुविधा देने के प्रति दृढसंकल्पित है. 

हमारे युवाओं में प्रतिभा की कोई कमी नहीं

मुख्यमन्त्री ने कहा कि हमारी सरकार ने खेल में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी प्रदान की है. आगे भी यह क्रम जारी रहेगा. हमारे युवाओं में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. जरुरत है केवल उसे निखारने की, जिसे हमारी सरकार कर्तव्य समझ कर पूरा करेगी. हमारी सरकार, झारखंडी युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिए उन्हें हर संभव सुविधा प्रदान करेगी. ताकि दुनिया भर में भारत का डंका बजे और झारखंडी खिलाड़ियों का लोहा हर कोई माने.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.