झारखण्ड चुनाव की उल्टी गिनती आज से शुरू -सर्वे में झामुमो गठबंधन आगे

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
झारखंड चुनाव

एएनआइ की  ट्वीट से सम्भावना है कि झारखंड के विधानसभा चुनावों की तारीखों का घोषणा आज हो जाएचूँकि 5 जनवरी 2020 को झारखंड विधानसभा का कार्यकाल पूरा हो रहा है, इसलिए नई सरकार का गठन उससे पहले कर लिया जा सकता है  हालांकि पहले अटकलें लगाई जा रही थी कि राज्य में झारखण्ड चुनाव का घोषणा पवित्र लोक पर्व छठ के बाद होगा

इन परिस्थितियों में संभव है कि राज्य के 81 विधानसभा सीटों पर 29 दिसंबर के पहले मतदान करा लिए जाए। साथ ही झारखण्ड चुनाव की घोषणा हो जाने पर निर्वाचन आयोग आज से ही आदर्श आचार संहिता लागू कर सकती है, इसी के साथ सभी सरकारी घोषणाओं पर विराम लग जायेगी।

इसी बीच आज चाणक्य ने वोटर सर्वे का रिपोर्ट भी सार्वजनिक कर दिया है। जिसमे जनता के बीच बेरोज़गारी एवं पानी की समस्या जैसे मुद्दे सबसे ऊपर है। विशेष रूप से युवा वर्ग तमाम समस्याओं के लिए मुख्यमंत्री जी को प्रत्यक्ष रूप से दोषी मानती है। 

राजनीतिक दलों की रिपोर्ट कार्ड के बारे में यह सर्वे इसका भी खुलासा करता है कि झामुमो गठबंधन ग्रामीण एवं अर्ध-शहरी क्षेत्रों में बढ़त बनाती दिख रही है। जहाँ भाजपा गठबंधन 36.2 %  जनता के बीच लोकप्रिय है तो वहीँ झामुमो गठबंधन की लोकप्रियता 39.2% लोगों के बीच है।

चाणक्य सर्वे में यह भी उभर कर सामने आया है कि युवाओं और महिला वोटरों के बीच झामुमो की पैठ बढ़ी है। अगस्त-सितम्बर माह के बीच हुए इस सर्वे में 54.6 प्रतिशत युवा हेमंत सोरेन को अगले मुख्यमंत्री के रूप में देखना पसंद करते हैं, वहीँ बाबूलाल मरांडी व रघुबर दास की स्वीकार्यता 16.5% प्रतिशत है।

इस सर्वे में गौर करने वाला पहलू यह भी है कि राज्य के महिलाओं के बीच जहाँ सूबे के मुख्यमंत्री जी की लोकप्रियता 26% है,  वहीं हेमंत सोरेन की लोकप्रियता 32% है। जबकि झविमो सुप्रीमो बाबूलाल जी की 11%। 

जाति वर्ग के अनुसार, हेमंत सोरेन की लोकप्रियता अगड़ों में 9.1% है तो मुख्यमंत्री जी का 27.%, पिछड़ों में हेमंत सोरेन का 36.8% तो मुख्यमंत्री जी का 22.9%, दलितों में हेमंत सोरेन का 28.2% तो मुख्यमंत्री जी का 29.4% व आदिवासियों के बीच हेमंत सोरेन 67.4% लोकप्रिय है, तो वहीं मुख्यमंत्री जी का लोकप्रियता 7.3% है।

मसलन, अब यह देखना दिलचस्प होगा कि यह सर्वे रिपोर्ट चुनावी आंकड़ों की तुलन में कितनी सटीक बैठती है। 

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.