Breaking News
Home / Tag Archives: #jharkhand

Tag Archives: #jharkhand

लम्बी चुनाव प्रक्रिया से झारखंड की व्यवस्था चरमराई 

लम्बी चुनाव प्रक्रिया

झारखंड में पाँच चरणों में विधानसभा चुनाव संपन्न कराये जाने हैं, मुख्यमंत्री जी द्वारा कहे जाने के बावजूद कि नक्सल राज्य में आख़िरी लड़ाई लड़ रही है, निर्वाचन आयोग ने उसी नक्सल का हवाला देते हुए एक लम्बी चुनाव प्रक्रिया की नीव रखी। मीडिया जगत ने इसे एक से एक …

Read More »

विधानसभा चुनाव के दौरान गए रेजीडेंट व ट्यूटर डॉक्टर हड़ताल पर 

विधानसभा चुनाव के दौरान गए रेजीडेट व ट्यूटर डॉक्टर हड़ताल पर 

झारखंड में विधानसभा चुनाव के पहले चरण की अधिसूचना 6 नवंबर तक जारी होने का निर्देश दे दिया गया है। प्रत्याशियों का नामांकन प्रक्रिया की शुरुआत इसी दिन से शुरू हो जायेगा और 13 नवंबर तक नामांकन किया जा सकेगा। ज्ञात हो कि चतरा, गुमला, बिशुनपुर, लोहरदगा, मनिका, लातेहार, पांकी, …

Read More »

बीजेपी युवा सपोर्टर सोशल मीडिया पर साहेब को “रघुवर चाचा” कह मुँह चिढ़ाते दिखे

बीजेपी युवा सपोटर भी बेरोजगार

इतिहास ने हर बार साबित किया है कि लाशों की ढेर, खून की नदियाँ, जेलों का डर और तानाशाही आतंक व सन्नाटे से भरे साम्राज्य कभी टिकाऊ नहीं रहे। बहुत प्रयास हुए फिर भी सच को झूठी चिलमनों के ओंट तले दबाया नहीं जा सका। लोगों को खिलाफ में उठ …

Read More »

एससी-एसटी-ओबीसी अभ्यर्थियों ने फिर कहा सरकार को आरक्षण विरोधी 

एससी-एसटी-ओबीसी अभ्यर्थियों ने पकड़ी उच्च न्यायालय की राह

रघुवर सरकार का मंशा शुरुआत से ही आदिवासी, मूलवासी, दलित व पिछड़ों के आरक्षण विरोधी प्रतीत होता रहा है। राज्य में कई मौक़ों पर यह सरकार आरक्षण की अनदेखी कर नियुक्तियां व परीक्षाएं आयोजित करवाई। उदाहरण के तौर मामला रिम्स में स्टाफ नियुक्ति का रहा हो या फिर शिक्षक भर्ती …

Read More »

बुद्धिजीवियों ने साहेब के कृत्य को गैर-ज़िम्मेदाराना करार दिया 

बुद्धिजीवियों ने

एक तरफ जहाँ चुनाव आयोग को मुँह चिढाते हुए छठ महापर्व के नाम पर एग्रिको मैदान में सुप्रसिद्ध फिल्मी गायिका नेहा कक्कड़ के कार्यक्रम का आयोजन हुआ – जिसके आयोजक सूर्य मंदिर कमेटी सिदगोड़ा है और जिसके संरक्षक माननीय रघुवर दास जी हैं, जो स्वयं सपरिवार कार्यक्रम में उपस्थित थे। …

Read More »

ग्रामीण तो ग्रामीण, शहरी भी खुले आम कहते हैं हेमंत सोरेन बेहतर विकल्प

ग्रामीण तो ग्रामीण शहरी जनता के विकल्प भी हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं। 

ग्रामीण तो ग्रामीण, शहरी भी खुले आम कहने से नहीं चुक रहे कि हेमंत सोरेन उनके लिए बेहतर विकल्प जब झारखंड जैसे राज्य की सियासत में किसान-किसान की आवाज़ सुनायी देती है,  तो यकीनन यह सवाल जनता के ज़हन में कौंधती है कि यह सत्ता परिवर्तन से सत्ता बचाने के …

Read More »

झारखण्ड चुनाव की उल्टी गिनती आज से शुरू -सर्वे में झामुमो गठबंधन आगे

झारखंड चुनाव

एएनआइ की  ट्वीट से सम्भावना है कि झारखंड के विधानसभा चुनावों की तारीखों का घोषणा आज हो जाए। चूँकि 5 जनवरी 2020 को झारखंड विधानसभा का कार्यकाल पूरा हो रहा है, इसलिए नई सरकार का गठन उससे पहले कर लिया जा सकता है।  हालांकि पहले अटकलें लगाई जा रही थी …

Read More »

संसाधन लूट से पैदा हुए प्रदूषण से मरती आम ग़रीब जनता

संसाधन लूट से पैदा हुए प्रदूषण

झारखंड में संसाधन लूट से पैदा हुए प्रदूषण ने घटाई आम जनता की उम्र   देश को पहले ही विश्व स्वास्थ्य संगठन की साल 2016 की रिपोर्ट ने यह खुलासा कर हिला दिया था कि भारत में अकेले प्रदूषण और ज़हरीली हवा की वजह से एक लाख बच्चों की मौत हुई, …

Read More »

 दुष्यंत चौटाला झारखंड सरकार के कोसने वाले दल भी हो सकते है!

दुष्यंत चौटाला

झारखण्ड में छठ बाद होने वाली चुनावी घोषणा ने तमाम राजनीतिक दलों की माथापच्ची बढ़ा दी है।  एक तरफ विपक्ष ने गठबंधन की गतिविधि तेज कर दी है तो दूसरी तरफ झाविमो, जदयू व एमआईएम ने अलग राह पकड़ ली है। साथ ही सीटों के बँटवारे को लेकर बीजेपी-आजसू के …

Read More »

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना, झारखंड इसका जीता जागता उदाहरण  फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना होती है, क्योंकि उनकी पूरी चुनावी व्यवस्था पूँजीपतियों के रहमोकरम पर ही निर्भर करता है। फासीवादियों के शासन में उनके चहेते पूँजीपति वर्ग को बेरोज़गार आबादी की ज़रूरत होती है। यदि …

Read More »