दवा के निर्यात पर केंद्र सरकार का बड़ा बयान, ‘बुरी तरह से प्रभावित देशों को दवाएं भेजेंगे’

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

[ad_1]

दवा के निर्यात पर केंद्र सरकार का बड़ा बयान, 'बुरी तरह से प्रभावित देशों को दवाएं भेजेंगे'

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • कहा, मानवीय पहलू को ध्‍यान में रखते हुए लिया निर्णय
  • दुनिया को इस समय एकता और सहयोग दिखाना चाहिए
  • ट्रंप ने भारत से मांगी थी मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन

नई दिल्‍ली:

Coronavirus Outbreak: दूसरे देशों में दवाओं के निर्यात (Export Of Drug) को लेकर केंद्र सरकार ने मंगलवार को बड़ा बयान देते हुए कहा है कि भारत उन देशों को कोरोना वायरस से बचाव की दवाएं भेजेगा जो इस महामारी के कारण बुरी तर‍ह प्रभावित हैं. अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड टंप की ओर से भारत को मलेरियारोधी दवाओं के अमेरिका के निर्यात करने संबंधी ‘चेतावनी’ के बाद सरकार का यह बयान आया है.विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा कि कोविड-19 के प्रभाव को देखते हुए हमारा हमेशा से यह मानना रहा है कि अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय को इस मामले में मजबूत एकता और सहयोग दिखाना चाहिए. 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि महामारी के मानवीय पहलुओं के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है कि भारत हमारे सभी पड़ोसी देशों, जो हमारी क्षमताओं पर निर्भर हैं, को उचित मात्रा में पेरासिटामोल और हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन भेजा. हम उन देशों में भी दवाओं की आपूर्ति करेंगे, जो कोरोना वायरस की महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. हम इस संबंध में किसी भी तरह की अटकलों या इस मामले का राजनीतिकरण करने के किसी भी प्रयास को सफल नहीं होने देंगे. गौरतलब है कि कोराना की महामारी के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत से कोरोना के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल हो रही मलेरिया रोधी दवाई हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) के निर्यात पर लगी रोक को हटाने की मांग की है. ट्रंप ने संकेत दिया था कि यदि भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाकर अमेरिका को इस दवा की आपूर्ति नहीं करता है तो वह इसका जवाब दे सकते हैं. 

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने सोमवार को कोरोनावायरस टास्कफोर्स ब्रीफिंग के दौरान व्हाइट हाउस में कहा था कि भारत अमेरिका के साथ अच्छा कर रहा है और मुझे ऐसा कोई कारण नहीं दिखता कि भारत अमेरिका के दवा के ऑर्डर पर रोक जारी रखेगा. उन्होंने कहा, “मैंने रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से बात की थी और मैंने कहा था कि अगर आप हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की आपूर्ति को मंजूरी देते हैं तो हम आपके इस कदम की सराहना करेंगे. यदि वह दवा की आपूर्ति की अनुमति नहीं देते हैं तो भी ठीक है, लेकिन हां, वे हमसे भी इसी तरह की प्रतिक्रिया की उम्मीद रखें.”

वीडियो: कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार की आक्रामण रणनीति



[ad_2]

Source link

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts