Welcome to Jharkhand Khabar   Click to listen highlighted text! Welcome to Jharkhand Khabar
  TRENDING
बेटियों की सुरक्षा मामलों में हेमन्त दा अदा कर रहे हैं फर्ज, खुद करते हैं मॉनिटरिंग
महिला सुरक्षा आदिकाल से झारखंडी संस्कृति की जीवनशैली
सड़क दुर्घटना पर हेमन्त सरकार एलर्ट, अस्पताल पहुंचाने वालों को मिलेगा इनाम
हेमन्त सरकार की युवा सोच ने झारखंड में खोले रोज़गार के नए द्वार
जेएमएम का पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने का एलान, ममता साथ आयी तो भाजपा को मिलेगी पटकनी
नेता प्रतिपक्ष मामला – हाईकोर्ट के निर्णय से बीजेपी की बदले की राजनीति के आरोप का हुआ पर्दाफाश
शर्मनाक! राँची के नए सरकारी निगम भवन को बीजेपी नेताओं ने बनाया पार्टी दफ्तर
हेमन्त सरकार के फैसले ने खोला गरीब-गुरवा के लिए निजी अस्पताल के द्वार
मुख्यमंत्री का दिल्ली दौरा संघीय ढांचे की मजबूती के मद्देनजर लोकतंत्र का सम्मान
Next
Prev

झारखंड स्थापना दिवस की शुभकामनाएं

जनता दरबार

हेमंत सोरेन ने सरकार-जनता के बीच की दूरी को पाटने के लिए जनता दरबार लगा ख़त्म करते हैं लोगों की समस्यायें

एक साल के कार्यकाल में कई बार जनता दरबार लगा झारखंडी सरकार होने का दिया है सबूत 

सीएम आवास के अलावा दुमका, नेमरा और नेतरहाट आदि जगहों पर जनता दरबार लगा चुके हैं मुख्यमंत्री 

रांची। किसी भी राज्य के मुखिया की सकारात्मक छवि मापने के कई पैमानों में एक होता है कि उन तक राज्य के लोगों की पहुँच कितनी सुलभ है। झारखंड के मौजूदा मुखिया हेमंत सोरेन इस पैमाने पर पूरी तरह से सटिक खरे उतरते दिख रहे हैं। मुख्यमंत्री का राज्य का सत्ता संभाले अभी एक साल पूरा होने को हैं। लेकिन इस दौरान वे लगातार फरियादियों की पीड़ा सुन रहे हैं और उसे दूर करने की कोशिश भी कर रहे हैं। मजेदार बात है कि वह समय का सदुपयोग कर व्यस्त कार्यक्रम में भी जनता दरवार का आयोजन कर लेते हैं 

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपने आवास पर तोलोगों से संवाद बनाते ही हैं। वे कोरोना संक्रमण के पहले या इसके घटते प्रभाव के बीच राज्य के जिलों में लगातार जनता दरबार लगा रहे हैं। दुमका राजभवन प्रवास की बात करें, नेमरा की करें या नेतरहाट की, सभी जगह मुख्यमंत्री ने जनता दरबार लगाकर आम ग्रामीणों की समस्याओं को सुना है। श्री सोरेन ऐसा कर न केवल इस बात का सबूत दे रहे है कि उनकी सरकार झारखंडी मानसिकता की सरकार है, बल्कि राज्य के लोगों की समस्याओं से उनकी संवेदना भी दिखता है।  

सीएम हाउस में भी अलग-अलग हिस्सों से पहुँचे फरियादियो की सुनते हैं पुकार 

सीएम बनने के बाद हेमंत कई बार अपने आवास पर फरियादियों से मिल रहे हैं। राज्य के अलग-अलग हिस्सों से फरियादी अपनी फरियाद लेकर हेमंत के पास पहुंचते हैं। और इस दौरान वह सुलभता से मुख्यमंत्री के सीधा संवाद कर अपनी समस्याओं से उन्हें अवगत कराते हैं, तत्काल निदान भी पाते हैं। साथ ही जटिल समस्याओं के जल्द निपटारे का निर्देश भी अधिकारियों को शीघ्र दिया जाता है। इस क्रम में कई सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग भी आवास पहुँच कर उनसे मिले और मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी समस्याएं बताई है। 

दुमका में तीन बार लगा चुके हैं जनता दरबार

अपने एक साल के कार्यकाल में मुख्यमंत्री ने तीन बार दुमका पहुंच जनता दरबार लगा चुके हैं। सीएम बनने के बाद हेमंत पहली बार 5 जनवरी को दुमका पहुंचे थे। सोहराय पर्व में शामिल होने के उद्देश्य से दुमका पहुंचे हेमंत ने भोगनाडीह में आयोजित जनता दरबार में लोगों की समस्याओं को सुना था। मुख्यमंत्री ने कहा था कि वे एक मुख्यमंत्री की तरह नहीं बल्कि एक बेटा, भाई और दोस्त की तरह काम करेंगे। उन्होंने कहा कि आप सरकार का हाथ थामें, सरकार आपको विकास के पथ पर ले जाने का कार्य करेगी। इस जनता दरबार में हेमंत ने करीब 8300 लाभुकों के बीच करीब 11,800 रुपये के करीब परिसंपत्तियों का भी वितरण किया था।

झारखंड उपचुनाव के मद्देनज़र 23 अक्टूबर को दुमका पहुंचे हेमंत सोरेन ने लोगों से मेल-मिलाप कर जनसंपर्क अभियान चलाया था। इस दौरान सीएम ने न केवल अपने पसंदीदा चाय दुकान सिया चाय दुकान में स्थानीय लोगों के साथ चाय की चुस्की ली, बल्कि उनके समस्याओं को भी जाना और उसके निदान का आदेश दिया। 

20 दिसम्बर को तीसरी बार दुमका पहुंचे हेमंत सोरेन ने फिर से जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी. उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं का निराकरण करना उनकी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने लोगों की समस्याओं के निदान का यथोचित कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान जिले के दुमुहानी की रहने वाली गरीब महिला शनि सोरेन के बैंक खाते से फर्जी तरीके से निकाले रुपए पर नाराज़गी जताते हुए सीएम ने संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया। इसी दिन देर शाम सीएम ने दुमका राजभवन में भी आम लोगों की समस्याओं को सुना। कई लोगों ने पेंशन, नौकरी, आवास और मुआवजा आदि की मांग को लेकर आवेदन दिया। इसपर उन्होंने कार्रवाई का भरोसा दिलाया। 

नेतरहाट पहुंचे हेमंत ने लोगों की समस्याओं के निदान को बताया प्राथमिकता

20 नवंबर के नेतरहाट पहुंचे हेमंत सोरेन ने यहां पर भी जनता दरबार लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं को सुन समाधान का भरोसा दिया। हेमंत ने कहा था कि झारखंडियों से उन्हें बड़ी ज़िम्मेदारी दी है। उनकी समस्याओं और परेशानियों का समाधान करना उनकी प्राथमिकता है। इस दौरान पूरे राज्यवासियों से सीएम ने अपील कर कहा कि अगर उन्हें कोई दिक्कत हैं तो वे बेहिचक और निर्भीक होकर उन्हें बताएं, उसे दूर किया जाएगा। 

नेमरा जनता दरबार में हेमंत ने कहा, यह सरकार जन आकांक्षाओं को पूरा करने वाली की सरकार है

27 नवंबर को अपने पैतृक गांव नेमरा पहुंचे हेमंत ने जनता दरबार लगाया। इस दौरान आसपास क्षेत्र के विभिन्न गांवों से पहुंचे फरियादियों ने अपनी समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। जिसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार जन आकांक्षाओं को पूरा करने वाली सरकार है। गांव, गरीब, किसान, महिला एवं नौजवान के समग्र विकास के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री ने फरियादियों को उनकी समस्याओं का जल्द निराकरण करने का भरोसा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts

Click to listen highlighted text!