हेमंत का झारखंडियों को सौगात -100 यूनिट मुफ्त बिजली व 6 ग्रिड सब-स्टेशन – ट्रांसमिशन

सौगात

बिजली जैसी महत्वपूर्ण आधारभूत संरचना के क्षेत्र में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कदम बढाते हुए  राज्यवासियों को दो बड़ी सौगात दी है। सौगात भी उस समय, जब पूरा राज्य कोरोना का दंश झेल रहा है। 

पहले सौगात में राज्यवासियों को 100 यूनिट मुफ्त बिजली दी जाती है। इसका फायदा उन लोगों को मिलेगा, जो हर महीने 300 यूनिट तक बिजली की खपत करेंगे। दूसरे सौगात में 6 स्टेशन सब-स्टेशन और ट्रांसमिशन लाइन की शुरुआत। 

पहले सौगात से उन मध्यम और निचले तबकोंको राहत मिलेगी, जिन्हें कोरोना काल में आर्थिक परेशानी झेलनी पड़ी है। दूसरे से डाल्टनगंज, गढ़वा, देवघर, गिरीडीह, गोड़बेड़ा जैसे जिले में निर्बह बिजली आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी।

100 यूनिट मुफ्त बिजली से हेमंत के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ा

100 यूनिटी मुफ्त बिजली देने का वादा पूरा करना, राज्यवासियों के विश्वास से भी जुड़ा है। क्योंकि उन्होंने चुनाव से पहले कहा था कि सरकार बनने पर वे ऐसा करेंगे। वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में इसकी घोषणा हो भी गयी है। मुफ्त बिजली देने से बिजली विभाग पर अतिरिक्त बोझ न पड़े, इसके लिए हेमंत ने 1000 करोड़ की वित्तीय मदद देने का भी ऐलान किया है।

ग्रिड सब-स्टेशन और ट्रांसमिशन लाइन की से ग्रामीणों को होगा फायदा 

6 ग्रिड सब-स्टेशन और ट्रांसमिशन लाइन का उद्घाटन किए जाने से 5 जिले की निर्बह बिजली सुनिश्चित हो सकेगी। इससे सबसे ज्यादा फायदा गिरीडीह जिले के समान ग्रामीणों को मिलेगा, जो डीवीसी की दोहरी नीति से परेशान है। हेमंत भी यह मानते हैं कि डीवीसी एक उद्योग धंधों को बिजली देने में आगे रहता है, लेकिन वहीं ग्रामीण इलाकों के लोगों के साथ कोताही बरतता है। 

मसलन, नई ट्रांसमिशन के आने से अब ग्रामीणों को 2 रुपए प्रति यूनिट कम बिजली दर देनी होगी। जो पहले के दर 5 रुपए प्रति यूनिट से घट कर  केवल 3 रुपये प्रति यूनिट होगा। साथ ही निस्संदेह यह कहा जा सकता है कि 6 ग्रिड सब-स्टेशन और ट्रांसमिशन लाइन राज्य के विकास में एक मजबूत आधार स्तंभ का काम करेगा।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.