84 करोड़ – भाजपा  V/S  हेमन्त – एक ने नदी के सौंदर्यीकरण पर लुटाया, तो दूसरे ने 45 योजनाओं से दी विकास को रफ्तार

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
84 करोड़

84 करोड़ खर्च कर हेमन्त सरकार, रांची नगर निगम की 38, रांची क्षेत्रीय विकास प्राधिकरण के 5, नगर विकास की एजेंसी जुडको की 2 योजनाओं को धरातल पर उतारने की तरफ बढ़ी 

भारतीय जनता पार्टी ने केवल हरमू नदी के सौंदर्यीकरण पर ही खर्च कर दिया 84 करोड़ रूपये और कार्य की जमीनी हकीकत जीरो 

रांची. सर्वविदित है कि 84 करोड़ की रकम छोटी नहीं होती है. इतनी बड़ी राशि से विकास की कई योजनाओं को धरातल पर उतारा जा सकता है. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के नेतृत्व में चल रही झारखंड सरकार ने इसे सिद्ध कर दिखाया है. लेकिन विडंबना की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार को इसका भान नहीं था. नतीजतन, राज्य में डबल इंजन के रूप में विकास का दावा करने वाली रघुवर सरकार ने 84 करोड़ रुपये केवल एक योजना पर फूंक दी. यह योजना, राजधानी के बीचो-बीच स्थित, मर रही हरमू नदी के सौंदर्यीकरण से सम्बंधित थी. 

धरातल पर योजना की हकीकत शून्य है. देखने से पता चलता है कि 84 करोड़ रुपये जैसी बड़ी राशि का आवंटन केवल भाजपा नेताओं के बीच बंदरबाट के लिए किया गया था. इसे हेमन्त सोरेन सरकार  ने, इतनी ही राशि से 1 नहीं कुल 45 योजनाओं को को चिन्हित कर साबित किया जो जल्द ही धरातल पर उतर जायेगा. हेमंत सरकार ने ऐसा कर अपनी ईमानदार मंशा जाहिर कर दी है कि वह राजधानी में विकास की नयी रूप-रेखा खींचने को बेताब हैं. 

84 करोड़ खर्च कर भी नाला बन चुकी हरमू नदी को ‘नदी’ न बना सकी डबल इंजन की रघुवर सरकार 

पिछली भाजपा सरकार में हरमू नदी सौंदर्यीकरण योजना के नाम पर 84 करोड़ रुपये फूंके गए. लेकिन बिछाए गए कंक्रीट के मद्देनजर, जल स्रोतों के बंद होने से सौंदर्यीकरण की जगह नदी, नाले में तब्दील हो गई. वर्ष 2015 में  नगर विकास विभाग को पहले की तरह नदी का स्वरूप देने का काम तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सौपा था. तत्कालीन मुख्यमंत्री का यह ड्रीम प्रोजेक्ट भी था. हरमू नदी का यह प्रोजेक्ट जुडको को दिया गया था. नदी के किनारे हरी घास और बांस के बाड़ में छोटे-छोटे पौधे लगाए गए. लेकिन अधिकांश आज नष्ट हो गये हैं. आलम यह है कि नदी अभी भी नाला बनी हुई है. गंदा काला पानी देख शायद ही इसे हरमू नदी कहा जा सकता है. 

नगर विकास मंत्री रहते सीएम ने दिखायी 45 योजनाओं को हरी झंडी

नगर विकास मंत्री के रुप में मुख्यमंत्री सोरेन द्वारा पिछले दिनों राजधानी में 84 करोड़ रुपये की लागत से कुल 45 योजनाओं को हरी झंडी दिखाई गयी. इनमें से 38 योजनाएं रांची नगर निगम की है, जिनकी लागत 60.50 करोड़ रुपये है, वहीं आरआरडीए की 6 और जुडको की 2 योजनाएं शामिल हैं. 

84 करोड़ से सीएम सोरेन ने रांची नगर निगम की इन योजनाओं को दिखायी हरी झंडी.

  • 4.53 करोड़ की लागत से जयपाल सिंह स्टेडियम का पुनर्विकास.
  • 4.89 करोड़ से होगा बड़ा तालाब का पुनर्विकास.
  • 8.02 करोड़ से होगा बड़ा तालाब की सफाई और मरम्मति.
  • 4.67 करोड़ खर्च कर कांके में अर्बन हाट का होगा निर्माण.
  • 4.35 करोड़ से हेहल पोस्ट ऑफिस, सिटी ट्रस्ट हॉस्पिटल, रातू रोड न्यू मार्केट में लगेगा पेभर ब्लॉक.
  • 4.15 करोड़ से लाइन टैंक रोड, करमटोली तालाब, मोरहाबादी, पीएचईडी चौक और मेडिका हॉस्पिटल के सामने होगा एरोबिक बायो शौचालय का रखरखाव और संचालन.
  • वार्ड 16 में 2 करोड़ खर्च कर अलबर्ट कैंपस में बड़ा नाला का निर्माण.
  • वार्ड 19 में 69.95 लाख से पीसीसी पथ का निर्माण.
  • बिरसा मुंडा बस टर्मिनल के लिए 83.70 लाख में पहुंच पथ.
  • वार्ड 36 में 86.80 लाख की लागत से नाली और पीसीसी सड़क बनेगा.
  • पुंदाग साहू चौक से आईएसएम चौक तक 88.30 लाख से सड़क निर्माण होगा.
  • वार्ड 44 में 31.94 लाख से सड़क का कालीकरण और नाली की मरम्मत होगी.
  • 38.13 लाख से वार्ड 2 में नाली और स्लैब निर्माण होगा.
  • वार्ड 8 के अयोध्यापुरी में 2.07 करोड़ से सड़क, नाली और पुलिया बनेंगे.
  • वार्ड 10 में 27.73 लाख से डिस्टलरी पुल पर स्टील रेलिंग बनेगा.
  • वार्ड 20 के पिंजरा पोल में 1.18 करोड़ से नाली निर्माण होगा.
  • 1.16 करोड़ में पिंजरा पोल चौक से गौशाला चौक तक नाली का निर्माण होगा.
  • 1.55 करोड़ से वार्ड 43 में नाली और बिटुमिनस पथ बनाये जाएंगे.
  • 1.08 करोड़ से मोरहाबादी मैदान कैंपस में लैंडस्केपिंग और पेभर ब्लॉक लगेगा.
  • वार्ड 15 में 3.78 करोड़ से नाली और सड़क मरम्मत का काम होगा

आरआरडीए क्षेत्र की योजनाएं

  • हटिया के करमाटोली चौक से हटिया-टोनको सड़क पश्चिम विहार में पक्की नाली और पुलिया निर्माण में 4.94 करोड़ खर्च होंगे.
  • 3.96 करोड़ से गेतलातू, सिमलिया, दलादली और करनीपुरम में नाली, सड़क और पुलिया बनेंगी.
  • 3.31 करोड़ से सिमलिया रिंग रोड से अल्तमस कॉलोनी और मिटकोइन मेगा सेंटर से लक्ष्मी नगर तक सड़क, पुलिया और नाली निर्माण होगा.
  • करमा चौक से बसारगढ़ ओबरिया और अनगड़ा-टाटीसिल्वे से बेरवारी आईटीआई तक 2.21 करोड़ से सड़क, पुल, पुलिया बनेंगे.
  • रॉक गार्डेन के प्रवेश, निकास द्वार और पार्किंग के विकास में 1.81 करोड़ खर्च होंगे.
  • जुडको की योजनाएं
  • सहजानंद चौक के विकास पर 2.53 करोड़ होंगे खर्च.
  • अरगोड़ा चौक के विकास पर 2.79 करोड़ किये जाएंगे खर्च.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.