Tag Archives: #unemployment

बेरोज़गारी की त्रासदी से जूझते झारखंड को निकालने का प्रयास

बेरोज़गारी की त्रासदी

बेरोज़गारी की त्रासदी से जूझते झारखंडी युवाओं के लिए उम्मीद की किरण झारखंड के कैनवास पर पहली बार हेमंत सरकार उस महीन रेखा को खींचने का प्रयास करते दिख रही है, जहाँ राज्य के युवाओं को रोज़गार के संकट या दूसरे शब्दों में कहें तो बेरोज़गारी की त्रासदी से जूझते …

Read More »

रोज़गार के दिशा में झारखंड सरकार का बड़ा पहल

रोज़गार

पिछली सरकार के नीतियों के अक्स तले झारखंड जैसे प्रदेश पर बेरोज़गारी का दबाव चरम तक बढ़ा। खानापूर्ति के तौर पर दी जाने वाली शिक्षा व्यवस्था को कटघरे में रख डिग्री को ही दोषी करार दे दिया गया। जिससे यहाँ के युवाओं को नौकरी न मिल पाने के स्थिति में …

Read More »

सरकार के बीससूत्री जुल्मों के गीत गाते झारखंडी युवा

सरकार के बीससूत्री जुल्मों

पेश हैं झारखंडी युवाओं के गीत के बोल जो रघुवर सरकार के बीससूत्री जुल्मों को न केवल दर्शाते हैं बल्कि एक अपील भी करती है, सोशल मीडिया पर वायरल

Read More »

छात्र भाजपा को वोट दे और लाठी खाए: रघुवर का नया पाठ याद रखे

छात्र

छात्र भाजपा के लिए केवल एक राजनीतिक टूल जेपी के 75 के आंदोलन के पीछे चूँकि यही खड़े थे , जिसके कारण छात्रों ने डिग्री गँवाई, नौकरी गंवाई। 89 में वीपी के पीछे खड़े होकर मंडल को कमण्डल में ऐसा डाला कि छात्रों के डिग्री पर आरक्षण भारी हो गया। …

Read More »

सीट पर कौन खड़ा है मत सोचिये, चेतिए! हर सीट पर रघुवर खड़ा है 

नौकरियाँ जाने की दर बढ़ रही चेत जाइये

झारखंड समेत देश भर में नौकरियां जा रही है, चुनाव में कौन किस सीट पर है मत देकिये, मानिए हर सीट पर रघुवर सरकार खड़ी है। देश की नजरें आप पर है

Read More »

सब चंगा है के नारे से आप किसी भ्रम में न रहे

आर्थिक संकट घोर फिर भी सब चंगा है

सरकार व उसकी तमाम तंत्र आर्थिक मंदी ठीक है कहने के बावजूद, सच्चाई का झूठ के परदे से बाहर निकल आना आगाह करता है आप भ्रम न पालें… कि सब चंगा है

Read More »

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी

फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना, झारखंड इसका जीता जागता उदाहरण  फासीवादी व्यवस्था में बेरोज़गारी एक सामान्य परिघटना होती है, क्योंकि उनकी पूरी चुनावी व्यवस्था पूँजीपतियों के रहमोकरम पर ही निर्भर करता है। फासीवादियों के शासन में उनके चहेते पूँजीपति वर्ग को बेरोज़गार आबादी की ज़रूरत होती है। यदि …

Read More »

जेटेट में झारखंडियों को रोकने के लिए बाहरियों की फिर एक नयी चाल

जेटेट

झारखंड के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग में बैठे हुए बाहरियों को यह हजम नहीं हो रहा कि इस बार बाहरियों को बाहर का रास्ता दिखा कर केवल झारखंड के अभ्यर्थी कैसे प्राथमिक शिक्षक बन सकते हैं। क्योंकि इस बार तीर्थ-चतुर्थ वर्ग की जेटेट भर्ती प्रक्रिया में अन्य राज्य के …

Read More »

मंदी का बोझ सरकार में चालान के रूप में अब आम लोगों कंधे पर डाला 

मंदी

नोटबन्दी व जीएसटी उत्पन्न मंदी का सबसे अधिक असर असंगठित क्षेत्र के मज़दूरों को झेलना पड़ा है, शहरों के कारख़ानों से बड़ी संख्या में मज़दूरों की छँटनी हुई है। उत्पादन कम होने से जो काम पहले शिफ्टों में होता था, वह अब केवल एक शिफ़्ट में, कहीं कहीं तो वह …

Read More »

बेरोज़गार होने की आशंका में भाजपा नेता के बेटे ने की आत्महत्या 

बेरोज़गार होने डर से झारखंडी युवा ने आत्म्हात्या की

सरकार के आंकड़े बताते हैं कि 2014 से लेकर अब तक देश में 20 साल से लेकर 30-35 साल तक के लगभग 27 हज़ार से अधिक बेरोज़गार युवाओं ने आत्महत्या कर ली। साथ ही लगभग 28 से 30 करोड़ बेरोज़गार युवा में सड़को की धूल फाँक रहे हैं, ऱोज ब …

Read More »