सामान कार्य

झारखंड सरकार हर दिशा में एक समान कार्य करते दिखती है

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

झारखंड सरकार कार्यशैली से प्रतीत होता है कि वह हर क्षेत्र में समान कार्य करती दिख रही है।

झारखंड

झारखंड में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर होगी कार्रवाई 

राज्य में, पुलिस प्रशासन मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं करने के लिए सख्त कार्रवाई करेगा। विशेष रूप से, सार्वजनिक स्थानों पर नियमों का उल्लंघन करने पर, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51, महामारी अधिनियम 1897 की धारा 3, आईपीसी की धारा 269, 270 और 188 के तहत दर्ज किया जाएगा। आवश्यकता पड़ने पर सभी जिलों के एसपी धारा 144 के तहत निरोधात्मक कार्रवाई भी कर सकते हैं। 

सामान कार्य

इसका कारण यह है – कुछ सार्वजनिक स्थानों और प्रतिष्ठानों में तालाबंदी से मुक्त होने के बाद सामाजिक दूरी के निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है। जो कोविद -19 को रोकने में समस्या पैदा कर सकता है। खासकर दुकानों में सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन को 9 जून तक सार्वजनिक स्थानों पर जागरूकता अभियान चलाने का भी आदेश दिया गया है। और इस संबंध में कानूनी कार्रवाई 10 जून से लागू करने के आदेश दिए गए हैं।

मज़दूरों को रोज़गार देने के लिए झारखंड सरकार तत्पर 

सामान कार्य

झारखंड सरकार मनरेगा के तहत अधिक प्रवासी मज़दूरों को रोज़गार देने के लिए तत्पर है। स्थानीय भाषा में काम करने के लिए श्रमिकों को आमंत्रित किया जा रहा है। राज्य भर में गिरिडीह में शुरू की गई इस व्यवस्था को लागू करने की तैयारी चल रही है। निमंत्रण में, वृक्षारोपण योजना, नीलांबर पीताम्बर योजना, खेतों की बाड़, डोभा, आदि वृक्षारोपण में उल्लिखित हैं। इसके साथ ही रोज़गार सेवक, पंचायत सचिव और अन्य संबंधित अधिकारियों से पंचायत में जॉब कार्ड खोलने का अनुरोध किया गया है। और ज्ञात हो की मई महीने में लगभग 5 लाख श्रमिकों को काम मिला है।

मुख्यमंत्री के अनुरोध पर एक निजी कंपनी के विमान प्रवासियों को लेकर राँची पहुँचेगी 

झारखंड

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रवासी श्रमिकों को घर लाने के लिए निजी कंपनियों और उद्योगपतियों से मदद मांगी थी। एक निजी कंपनी ने विशेष विमान से राज्य के उन फंसे हुए प्रवासी कामगारों को झारखंड लाने की व्यवस्था की है। वह विशेष विमान प्रवासी कामगारों के साथ आज राँची पहुंचेंगा। मुख्यमंत्री के अनुरोध पर, कंपनी ने श्रमिकों के सहयोग के लिए हाथ बढ़ाया है। 

ग़ौरतलब हो कि बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर बाहरी शहरों के यात्री विमान से पहुंच रहे हैं, लेकिन यहां से जाने वाले यात्रियों की संख्या कम है। लोग केवल जरूरी काम के लिए ही बाहर जा रहे हैं।

मसलन, झारखंड सरकार हर क्षेत्र में न केवल समान कार्य करती दिख रही है। बल्कि मुख्यमंत्री मुस्तैदी से निगरानी कर भी रहे हैं।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

This Post Has One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts