शहरों

हेमन्त सरकार अगले 30 वर्षों का आकलन कर राज्य के शहरों का करेगी कायाकल्प

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

शहरों में स्थित रात्रि विश्राम गृहों को दाल-भात योजना से जोड़ सरकार यात्रिओं को भोजन कराएगी 

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यकाल को बताया दागदार, हेमंत सरकार लिख रही है नयी इबारत

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यकाल को दागदार बताते हुए आरोप लगाया था कि उनके कार्यकाल में 21 करोड़ रुपए के सरकारी धन की लूट-खसोट हुई। रघुवर दास पर यह भी आरोप है कि उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को दो बार पत्र लिखकर समिति की जांच की जाँच बाधित करने की कोशिश की। मामला रांची हाईकोर्ट में गया, जहां कोर्ट ने निर्देश दिया कि अगर गड़बड़ी हुई है तो नियमानुसार कार्रवाई हो। राज्य के किसी मंत्री या मुख्यमंत्री पर इससे बड़ा दाग और क्या हो सकता है? 

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन द्वारा अगले 30 वर्ष का आकलन करते कार्य योजना तैयार करने के आदेश नगर विकास एवं आवास विभाग को दिए गए हैं। राजधानी रांची पर घनी आबादी एवं वाहनों का अधिक दबाब है। हर वासियों को स्वच्छ वातावरण मिल सके इसके लिए सरकार शहर को व्यवस्थित करेगी। अर्बन रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए बेहतर मैकेनिज्म भी तैयार कर शहरों में पानी की समस्या से निजात पाया जाएगा। शहर की साफ-सफाई सुनियोजित किया जाएगा। तमाम कार्य सरकार योजनाबद्ध तरीके से करेगी। 

सराकर टैक्सी स्टैंड, बस स्टैंड और ट्रांसपोर्ट सुविधा को ध्यान में रख कर नगर निर्माण कार्य करेगी

हेमंत सरकार राजधानी रांची में टैक्सी स्टैंड, बस स्टैंड एवं ट्रांसपोर्ट नगर विकसित कर शहरवासियों को समस्या से निजात दिलाएगी। इसके लिए जल्द निमित्त भूमि चिन्हित कर कार्य प्रारंभ करने के आदेश दिए जा चुके हैं। इसी के साथ वर्त्तमान सरकार नए तरीके से सुविधायुक्त व मोर्डेन शहर तैयार करने के दिशा में कदम बढ़ा चुकी है। जिसकी झलक आने वाले चंद वर्षों में दिखना शुरू हो सकता है। 

शहरों में नाइट मार्केट, फूड मार्केट, अर्बन हाट एवं किसान मार्केट स्थापित होंगे

हेमन्त सरकार रांची समेत राज्य के अन्य शहरों में नाइट मार्केट, फूड मार्केट, अर्बन हाट, किसान मार्केट बनाने जा रही है। साथ ही जरूरत के हिसाब से शहरों में छोटे-छोटे वेडिंग जोन बनाए जायेंगे। सड़कों पर ठेला, खोमचा, छोटे-छोटे अन्य वेंडरों को अतिक्रमण की वजह से प्रशासन द्वारा हटाए जाने की समस्या से जल्द निजात मिल सकता है। ऐसे लोगों की जीवन-यापन की व्यवस्था को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है। अब व्यवस्थित तरीके से रोजगार के लिए ऐसे लोगो जगह उपलब्ध कराना विभाग की जिम्मेवारी होगी।

सरकार समन्वय स्थापित कर वाटर सप्लाई कार्य को दुरुस्त करेगी 

वाटर सप्लाई प्लान को दुरुस्त और व्यवस्थित करने के लिए सरकार इससे जुड़े सभी विभागों में  समन्वय स्थापित कर कार्य करेगी। सरकार सड़कों में वाटर सप्लाई पाइपलाइन इस प्रकार व्यवस्थित करेगी  जिससे सड़कों को भविष्य में क्षति न पहुंचे। जिससे टूटे फूटे सड़कों से शहरवासियों को निजात मिल सकेगा। वैकल्पिक व्यवस्था के साथ वाटर सप्लाई के लिए पाइपलाइन बिछाने कार्य किया जाएगा जिससे वाटर सप्लाई सिस्टम भविष्य में हमेशा दुरुस्त रहे।

शौचालयों के मेंटेनेंस हेतु भी तैयार कर रही है सरकार कार्य योजना

स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत हुए शौचालय निर्माण के मेंटेनेंस के लिए राज्य सरकार एक कार्य योजना तैयार कर रही है। मुख्यमंत्री का मानना है कि स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत बने शौचालयों का शत-प्रतिशत उपयोग तभी हो पाएगा जब शौचालय को साफ सुथरा रखा जा सकेगा। इन सभी शौचालयों का डेटाबेस तैयार हो रहा है जिससे इसके मेंटेनेंस का कार्य योजना बनाया जा सके।

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के बेहतर क्रियान्वयन के लिए होगा मैकेनिज्म डेवलप

 ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के बिना स्वच्छता संभव नहीं है। सरकार परियोजनाओं के क्रियान्वयन में बदलाव कर आधुनिक संसाधनों का उपयोग कर मैकेनिज्म तैयार कर रही है। इसी के साथ नगर कचरा निस्तारण प्लांट व निगम डोर टू डोर कूड़ा उठाने की व्यवस्था पर मजबूती से काम चल रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा नगर निगम संसाधनों की कमी को दूर करने का आदेश दे दिया गया है। मुख्यमंत्री ने नमामि गंगे योजना के तहत राज्य भर में लगे पेड़ों का फोटो शेयर करने का निर्देश विभागीय पदाधिकारियों को दिया है।

रात्रि विश्राम गृह दाल भात योजना से जुड़ेगी 

शहरों में बने रात्रि विश्राम गृहों को दाल-भात योजना से जोड़ कर यात्रियों के लिए भोजन का किया जाएगा। जिससे रात्रि विश्राम गृह में विश्राम करने वाले गरीब लोगों को भोजन की समस्या नहीं होगी। यहाँ भी दाल भात योजना चलाने का जिम्मा शहरी क्षेत्रों की महिला स्वयं सहायता समूह को दिया जाएगा। 

सरकार पुरुष स्वयं सहायता समूह का भी गठन करेगी

हेमंत सरकार ने पुरुष स्वयं सहायता समूह गठन करने का फैसला लिया है। विभागों द्वारा चलाए जा रहे स्वावलंबन योजना के तहत पुरुष स्वयं सहायता समूह बनाए जाने पर स्वयं मुख्यमंत्री ने जोर दिया हैं। पुरुष स्वयं सहायता समूह का गठन होने से सरकार युवाओं को सीधे रोजगार से जोड़ सकेगी।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

This Post Has One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts