भाजपा सोशल मीडिया प्रभारी अब लोगों के अकाउंट से पैसे उड़ा रहे हैं 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
भाजपा सोशल मीडिया प्रभारी

अब तक तो भाजपा नेता व उसके सोशल मीडिया के कर्मचारी व्हाट्सऐप, फेसबुक ‍ट्विटर, यूट्यूब इत्यादि के ज़रिए तरह-तरह की झूठी ख़बरें फैलाने का कारनामे करते थे। लोगों के बीच फैली उस  नफ़रत की खेती के सहारे भाजपा चुनाव में अपने वोट की फसल उगती थी। लेकिन इनके नेता के इतना काफ़ी न था, अब झारखण्ड में भाजपा के सोशल मीडिया प्रभारी ने आगे बढ़ कर धोखाधड़ी कर पैसे गमन के नेतागिरी का अलग उदाहरण पेश किया है।    

झारखंड भाजपा के रामगढ़ सोशल मीडिया प्रभारी सह धोबा पंचायत के वार्ड सदस्य तनुप कुमार दत्त उर्फ़ मिठु को हैदराबाद पुलिस ने इसी मामले के तहत नेताजी को घर से गिरफ्तार किया है। हैदराबाद पुलिस इस महाशय को दुमका न्यायालय में पेश करने वाली है। फिर ट्रांजिट रिमाड के तहत साहेब को अपने साथ लेकर जाएगी। यह मामला तब प्रकाश में आया जब हैदराबाद, नामपल्ली जिला के साइबर थाना के पुलिस निरीक्षक, प्रशांत एवं कांस्टेबल एम ए करीम तनुप कुमार दत्त व कृष्णा मंडल के खिलाफ वारंट लेकर रामगढ़ थाना पहुंचे। फिर वे स्थानीय पुलिस की मदद से सीधा तनुप कुमार दत्त घर पंहुचा और धर दबोचा।

निरीक्षक प्रशांत जी ने जानकारी दी कि इस महाशय ने हैदराबाद के वित्त विभाग में कार्यरत राधाकृष्णन के खाता से छह लाख रुपया लगभग एक वर्ष पूर्व उड़ा था। साइबर थाना में राधाकृष्णन ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस को छानबीन के तहत पता चला कि इसकी तार झारखंड से जुड़ा है। यह भी जानकारी दी कि इन लोगों ने वह छह लाख रुपया कई खातों में मंगाया था और तनुप कुमार दत्त के खाता में भी 25 हजार रुपया आया था। तनुप कुमार दत्त को एक वर्ष पूर्व ही हिरासत में लिया गया था, लेकिन हैदराबाद पुलिस के पास उस वक्त वारंट नहीं होने के कारण रामगढ़ पुलिस ने उसे नहीं ले जाने दिया था। हैदराबाद पुलिस ने तनुप कुमार दत्त को 15 दिनों के भीतर आने नोटिस दिया था, लेकिन वह नहीं पंहुचा। 

अंततः हैदराबाद पुलिस फिर वारंट लेकर रामगढ़ पहुंची और गिरफ्तारी की। मसलन, एक बार फिर तथ्यों ने साबित किया कि भाजपा वह संगम है जिसमे सभी पापियों के पाप धुलते हैं। ऐसा कारनामा करने पर झारखण्ड भाजपा ने उस पुलिस निरक्षक को बधाई देने के बजाय नेतागण थाने में उसे छुड़ाने के लिए पूरा दिन एक कर दिया, लेकिन उस पुलिस ने उसे छोड़ने से साफ इंकार कर दिया।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.