‘ज़िंदगी तल्ख़ सही लेकिन दिल से लगाए रखना’ - संथाल किंग गुरूजी -भाग 4 भारत के बड़े पूँजीपति वर्गों ने अपनी लूट-खसोट पर केन्द्रित मुनाफे को गति देने के लिए…

Continue Readingसंथाल नवोदय को गुरूजी ने गठा, बाद में वह आदिवासी सुधार समिति कहलाया -4

गुरु जी एक विचार है ... अगला भाग  ...घंटों माँ के गोद में सर रखे सोते रहे... जब आँख खुली तो आँसू सूख चुके थे और नयी सुबह ने दस्तक दी…

Continue Readingगुरु जी रूपी विचार एक जिद्द का नाम है जिससे खौफ खाती है रघुबर सरकार
Read more about the article झारखण्ड-आन्दोलन और झारखंडी युवा
शिबू सोरेन झारखण्ड-आन्दोलन सिपाही

इतिहास के पृष्ठों पर अंकित समस्त आन्दोलनों के अंतर्गत जो क्रांतियां हुई उनमें युवाओं की भागीदारी हमेशा बढ़-चढ़ कर रही। युवा नेतृत्व ने न सिर्फ आन्दोलनों को दिशा दी, बल्कि…

Continue Readingझारखण्ड-आन्दोलन और झारखंडी युवा