उग्रवाद प्रभावित जिला गुमला में किसानों की सुविधा के लिए लगेगा लिफ्ट इरिगेशन प्लांट 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
इरिगेशन प्लांट 
  • जिले में लगेंगे 90 सोलर लिफ्ट इरिगेशन प्लांट
  • सोलर इरिगेशन के माध्यम से किसानों होंगे सशक्त

झारखंड सरकार में, उग्रवाद प्रभावित गुमला जिले के किसानों को आर्थिक मजबूती प्रदान करने के लिए तथा उनकी आय को दोगुना करने के उद्देश्य से उन्हें सोलर लिफ्ट इरिगेशन के माध्यम से सिंचाई की सुविधा मुहैया कराई जाएगी. इसके लिए जिले में विभिन्न प्रखंडों के 90 गांव में यह सोलर लिफ्ट इरिगेशन सिस्टम स्थापित होगा. जहां से सैकड़ों हेक्टेयर भूमि सिंचित किया जा सकेगा. इस योजना के क्रियान्वित होने से गुमला जिला के किसानों की तकदीर और तस्वीर बदलने की कवायद की जा रही है.

विदित हो कि जिले में 80% से अधिक आबादी कृषि एवं खेती पर ही निर्भर हैं. क्योंकि इस जिले में कोई बड़ा उद्योग अथवा फैक्ट्री संचालित नहीं होने के कारण यहां के लोगों का कृषि पर ही निर्भरता है. सरकार ने आकांक्षी जिला घोषित करते हुए गुमला जिले को शिक्षा, चिकित्सा, पोषण, वित्तीय समावेशन सहित कृषि पशुपालन के क्षेत्र में सशक्त बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की योजना क्रियान्वित की है. सोलर लिफ्ट इरिगेशन परियोजना की लागत प्रत्येक यूनिट 11.98 लाख रुपए हैं. 90 यूनिट परियोजना का अधिष्ठापन के लिए करीब 10 करोड़ खर्च किए जाएंगे. 

6 इरिगेशन प्लांट का प्रोजेक्ट होगा स्थापित 

जिला योजना पदाधिकारी विभूति कुमार ने बताया कि योजना क्रियान्वित कराने के लिए टेंडर निकाला जा चुका है. उन्होंने बताया कि 16 लिफ्ट इरिगेशन का प्रोजेक्ट स्थापित होगा. वैसे चयनित स्थान पर सोलर लिफ्ट इरिगेशन सिस्टम स्थापित किया जाएगा जहां प्राकृतिक रूप से जल का स्रोत यथा तालाब नदी अथवा चेक डैम के रूप में उपलब्ध हो. इसके लिए लाभुक समिति गठित होगी ताकि इस प्रोजेक्ट का लाभ आसपास के किसानों को अपने खेतों की सिंचाई करने में मिल सके. रख-रखाव की जिम्मेदारी ग्रामीणों को ही सौंपी जाएगी. इससे सिंचाई करने में बिजली बिल अथवा डीजल की बचत होगी. 

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.