झारखण्ड : मुख्यमंत्री की केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव एम.नागराजू के साथ बैठक 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
एम.नागराजू

मुख्यमंत्री की एम.नागराजू के साथ बैठक. राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार के संयुक्त प्रयास से शीघ्र ही झारखण्ड के 6 और कोल ब्लॉकों में उत्खनन कार्य होगा शुरू…

उत्खनन कार्य में 75% मानव बल झारखंड के हों यह सुनिश्चित करें. वातावरण अनुकूल हो उत्खनन कार्य

हेमन्त सोरेन, मुख्यमंत्री, झारखण्ड

रांची : केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव एम. नागराजू ने मिलाकर झारखंड राज्य में अवस्थित 29 कोल ब्लॉकों को चालू करने के संबंध में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से बैठक की. बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि राज्य के 29 कोल ब्लॉकों में 3 कोल ब्लॉक में पहले से ही उत्खनन कार्य शुरू है तथा आने वाले महीनों में केंद्र एवं राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से केरेडारी, चट्टी बरियातू, बदाम, तुबेद, टोकीसूद एवं लोहारी कोल ब्लॉक में उत्खनन कार्य शीघ्र ही चालू हो सकेगा. 

केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव एम.नागराजू द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष रखी गई जानकारी में कहा गया कि 6 कोल ब्लॉकों की उत्खनन कार्य प्रारंभ करने को लेकर केंद्र एवं राज्य सरकार के पदाधिकारियों द्वारा सकारात्मक प्रयास किया जा रहा है. शीघ्र ही इन 6 कोल ब्लॉकों में उत्खनन कार्य प्रारंभ हो सके यह हम सभी की प्राथमिकता होनी चाहिए.

उत्खनन कार्य में 75% मानव बल राज्य के हों यह सुनिश्चित करें

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव एम.नागराजू को निदेशित किया कि विभिन्न कोयला उत्खनन कंपनियों के आवंटियों को झारखंड एक्ट का पालन कराना सुनिश्चित किए जाएं. राज्य सरकार के नियम के अनुसार उत्खनन कंपनियों में कार्यरत 75% मानव बल झारखंड के हों यह प्राथमिकता के तौर पर सुनिश्चित की जाए. केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि विभिन्न कोयला उत्खनन कंपनियों के आवंटियों के साथ बैठक कर राज्य के ही 75% मानव बल उत्खनन कार्य करेंगे यह अनुपालन किए जाने का निर्देश केंद्रीय खान मंत्रालय द्वारा दिए जाएंगे.

केंद्रीय खान मंत्रालय के अपर सचिव ने मुख्यमंत्री के समक्ष बात रखी की पाकुड़ जिला स्थित पछवारा कोल ब्लॉक से दुमका तक नया रोड बनाने का कार्य राज्य सरकार करे. इससे ट्रांसपोर्टिंग सुविधा सुलभ हो सकेगी, इस संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़क निर्माण करने से वहां के वातावरण में प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा. बेहतर यह हो सकता है कि केंद्र सरकार उस रूट में डेडीकेटेड रेलवे लाइन निर्माण करने का कार्य करे ताकि आसपास क्षेत्र में रहने वाले लोगों को स्वच्छ वातावरण मिल सके. बैठक में कई और कॉल ब्लॉक को चालू करने को लेकर केंद्र एवं राज्य सरकार के पदाधिकारियों द्वारा सकारात्मक कदम उठाए जाने पर विशेष चर्चा की गई.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.