Hemant Soren

झारखण्ड उपचुनावों में हेमंत सोरेन की धूम

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

सिल्ली और गोमिया विधानसभा उप चुनाव की तारीख की घोषणा होने के साथ ही झारखण्ड राज्य में एक बार फिर चुनावी सरगर्मी बढ़ गई है। झारखंड की इन दोनों सीटों पर 28 मई को चुनाव होंगे। सिल्ली के करीब दो लाख और गोमिया के तक़रीबन तीन लाख मतदाता अपना नया जनप्रतिनिधि चुनेंगे। झामुमो के कब्जे वाली दोनों सीटों को अपने पाले में करने के लिए सत्ताधारी भाजपा और आजसू जोर आजमाइश कर रही हैं। वहीं झामुमो अपनी सीटें किसी भी हाल में गंवाती नहीं दिख रही है। झाविमो, राजद, मासस, सीपीआइ, सीपीएम कांग्रेस ने झामुमो को बिना शर्त समर्थन दिया है वहीँ दोनों सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में एनडीए गठबंधन दरक गया है। आजसु का कहना है कि वह हमेशा छोटे भाई की तरह भाजपा के साथ गठबंधन धर्म निभाया है, इस बार भाजपा को यह धर्म निभानी पड़ेगी।

धनबाद के मैथन में आयोजित झामुमो की तीन दिवसीय 11 वें महाधिवेशन में पूर्व मुख्यमंत्री सह नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन को लगातार दूसरी बार पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष चुने जाने के बाद से ही कार्यकर्तायों के साथ साथ झारखण्ड की जनता में भी नया जोश देखा जा रहा है, जिसका सीधा असर शायद सिल्ली और गोमिया के होने वाले उपचुनाव में हो रहा है। यहाँ की जनता हेमंत सोरेन पर अपनी आस्था जताते हुए दोनों सीट झामुमो के पाले में डालने का मन बना ली है। यहाँ की जनता का कहना है कि एनडीए की सरकार लूट खसोट वाली है। भाजपा के द्वारा थोपे गए मुख्यमंत्री ने सिर्फ यहाँ की ज़मीन, खनिज-संपदा एवं संसाधन को लूटवाने का काम किया है और यहाँ के आदिवासी और मूलवासी के अधिकारों का लगातार हनन कर रही है साथ ही यहाँ की महिलाएं मान रहीं है कि झामुमो ने दोनों विधानसभा क्षेत्र में महिला प्रत्याशी को उतार कर उनका मान बढाई है। कहीं न कहीं जनता की भावनात्मक जुडाव भी झामुमो प्रत्याशियों के साथ देखने को मिल रही है।

झारखण्ड खबर को दोनों उपचुनाव क्षत्रों के सर्वे से जो आंकड़े प्राप्त हुए वो बेहद चौकाने वाली है।

झारखण्ड खबर ने इस सर्वे को दो सैंपलों में संपन्न की प्रत्येक सैंपल की साइज़ बीस हज़ार थी जो इस प्रकार है। आप खुद ही अंदाज़ा लगा सकते है।  (कितने प्रतिशत जनता किस राजनैतिक दल के साथ हैं)               

गोमिया विधानसभा क्षेत्र के आँकड़े                  

राजनैतिक दल  प्रतिशत में 
JMM 53%
BJP 28%
AJSU 17%
OTHERS 2%

 

सिल्ली विधानसभा क्षेत्र के आँकड़े

राजनैतिक दल  प्रतिशत में 
JMM 52%
AJSU 41%
OTHERS 7%

लुब्बेलुबाब यह कि रघुराज की नीतियों ने झारखण्ड में उस ज्वालामुखी के दहाने की ओर समाज के सरकते जाने की रफ्तार को काफ़ी तेज़ कर दिया है, जिस ओर घिसटने की यात्रा गत लगभग तीन दशकों से जारी है। यह पूरे सामाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न कर रहा है। बुर्जुआ जनवाद का राजनीतिक-संवैधानिक ढाँचा इसके दबाव से चरमरा रहा है। झारखण्ड को चीन और अमेरिका जैसा बनाने के सारे दावे हवा हो चुके हैं। साढ़े तीन साल में ही भक्तजनों को मुँह छुपाने को कोई अँधेरा कोना भी नहीं नसीब हो रहा है।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts