Tag Archives: #jvm

जेवीएम के निशाने पर सत्ता के बजाय विपक्ष क्यों ? 

जेवीएम

जेवीएम के निशाने पर विपक्ष झारखंड की राजनीतिक इतिहास में बहुत कम मौके आए हैं, जब चुनावी लोकतंत्र की उन परिस्थितियों को मौजूदा सत्ता समीकरण की राजनीति में उधेड़ कर रख देना चाहती है, जहाँ चुनावी लोकतंत्र को लेकर बची-खुचे भ्रम भी ख़त्म जाए। विचारधारा नाम की कोई चीज होती …

Read More »

राष्ट्रीय दल ( भाजपा- कांग्रेस ) आखिर क्षेत्रीय दल की गरिमा क्यों भूल जाते हैं

क्या राष्ट्रीय दल कांग्रेस ने ही सर्व प्रथम सीएनटी/एसपीटी एक्ट एवं विल्केंसन रूल्स पर हमला शुरू किया 

क्या राष्ट्रीय दल कांग्रेस ने ही सर्व प्रथम सीएनटी/एसपीटी एक्ट एवं विल्केंसन रूल्स पर हमला शुरू किया  झारखंड के केनवास पर गठबंधन पर मचे भूचाल के बीच कांग्रेस का राष्ट्रीय दल होने का दंभ को देखकर यह आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश की दोनो पूंजीवादी एवं मनुवादी विचारधरा से लैस …

Read More »

शाह आदिवासियों को झुनझुना पकड़ा चलते बने!

  झारखण्ड में 11 जुलाई को भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का एक दिवसीय दौरा हुआ। उम्मीद के मुताबिक यहाँ के मीडिया द्वारा दिए गए शीर्षक – ‘शहंशाह’ ने आदिवासी नेताओं के साथ फोटो खिंचवाई, बंद 5 सितारे कमरे में आगामी चुनाव हेतु रणनीति की चर्चा की, राजधानी की सड़क …

Read More »

क्या अमित शाह का यह दौरा ‘बाबूलाल-चिट्ठी-प्रकरण’ समझौता दौरा तो नहीं ?

झारखण्ड प्रदेश में झाविमो सुप्रीमो, बाबूलाल मरांडी द्वारा भाजपा के विधायाकों की खरीद-फ़रोख्त को चिट्टी के माध्यम से उजागर करने के बाद विगत दिनों से दलबदलू विधायकों का इसके खिलाफ थाने में आवेदन देने का सिलसिला लगातार जारी है। साथ ही इस प्रकरण में दोनों पार्टियों का एक दूसरे पर …

Read More »

भाजपा सत्ता के लालच में बेच रहे हैं कौड़ियों में लोकतंत्र

कर्नाटक के चुनाव से न सिर्फ़ आज के दौर में मोदीवादी के उभार की सच्चाई सामने आयी है, बल्कि यह भी ज़ाहिर हुआ कि आम तौर पर देश के चुनावों में क्या होता है। कई रिपोर्टों में बताया गया कि भाजपा ने वोट ख़रीदने के लिए किस प्रकार बेशुमार धन …

Read More »