मनरेगा की योजनाओं को बेहतर ढंग से लागू करें -मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
मनरेगा की योजनाओं

मनरेगा की योजनाओं को झारखण्ड में बेहतर ढंग से लागू करें, लो झानो अभियान के अंतर्गत सभी हड़िया-दारू बेचने को मजबूर बहनों को जोड़ें

  • जॉबकार्ड में उम्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएं
  • पलाश ब्रांड के उत्पादों को प्रमुखता दें
  • फूलो झानो अभियान के अंतर्गत सभी हड़िया-दारू बेचने को मजबूर बहनों को जोड़ें

रांची : मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान आवास योजना से जरूरतमंदों को आच्छादित करने का आदेश दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 अक्टूबर तक सभी जरूरतमंदों को योजना का लाभ दें. मनरेगा की योजनाओं को बेहतर ढंग से लागू करें. पोटो हो खेल मैदान को पूरा करने में कोई देरी न हो. इस दिशा में कार्य करने की आवश्यकता है. 

जॉबकार्ड में उम्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएं

बिरसा हरित ग्राम योजना की समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि पौधरोपण ऐसी जगह करें जहां सिंचाई की सुविधा हो. पौधों की सिंचाई के लिए जरूरतमंद वर्ग जैसे बुजुर्ग, विधवा, या अन्य कोई असहाय व्यक्ति को सिंचाई कार्य में लगाएं और मनरेगा के जरिये मजदूरी का भुगतान करें. साथ ही, मनरेगा के जॉबकार्ड में उम्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएं. 

महिलाओं को मिले सम्मानजनक आजीविका 

मुख्यमंत्री ने फूलो झानो आशीर्वाद अभियान की स्थिति की समीक्षा के दौरान कहा कि यह महत्वपूर्ण योजना है. हमें महिलाओं को हड़िया दारू निर्माण और बिक्री कार्य से दूर कर सम्मानजनक आजीविका से जोड़ना है. सभी उपायुक्त यह सुनिश्चित करें कि आने वाले समय में इस कार्य से जुड़ी महिलाओं को व्यवसाय के अन्य विकल्प प्राप्त हो सके. ऐसी महिलाएं पुनः अपने पुराने व्यवसाय में ना जाये यह भी सुनिश्चित करें. साथ ही शहरी क्षेत्र में हड़िया-दारू बेचने वाली बहनों को भी इस अभियान से जोड़े.

पलाश ब्रांड का उत्पादों को प्रमुखता दें 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पलाश ब्रांड के उत्पादों का उपयोग सरकारी भवनों यथा सर्किट हाउस, सरकारी स्कूल, कारागार, सरकारी कार्यालयों, आदि में करें. फूलों झानो आशीर्वाद अभियान में आने वाली महिलाओं को भी पलाश ब्रांड से जोड़ने का कार्य होना चाहिए. पलाश ब्रांड के जरिये महिलाओं का आर्थिक स्वावलंबन सुनिश्चित किया जा सकता है और नारी सशक्तिकरण की बात सार्थक होगी.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.