उत्तर प्रदेश : अलग वार्ड में रखे तबलीगी जमात के सदस्यों ने अंडा करी और बिरयानी के लिए काटा हंगामा

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

[ad_1]

उत्तर प्रदेश : अलग वार्ड में रखे तबलीगी जमात के सदस्यों ने अंडा करी और बिरयानी के लिए काटा हंगामा

बिजनौर में जमात के 13 लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित होने के संदेह में उत्तर प्रदेश के बिजनौर के जिला अस्पताल के पृथक वार्ड में रखे गए इंडोनेशिया के आठ नागरिकों सहित 13 लोगों ने अस्पताल में हंगामा किया और अंडे एवं बिरयानी की फरमाइश की. सीएमएस ज्ञानचंद ने बताया कि जिला अस्पताल के पृथक वार्ड में रखे गए आठ इंडोनेशियाई और पांच भारतीय तबलीगी जमात सदस्यों ने सफाईकर्मी से बदतमीजी की और अंडा करी एवं बिरयानी की मांग की.  उन्होंने बताया कि इन लोगों की फरमाइश जब पूरी नहीं की गई तो उन्होंने हंगामा किया.  हालांकि इस संबंध में सूचना मिलने पर डीएम रमाकांत पांडेय, एसपी संजीव त्यागी और सीएमओ विजय यादव ने अस्पताल पहुंच कर इन लोगों को समझा बुझा कर मामला शांत किया. 

गौरतलब है कि इससे पहले गाजियाबाद में हुई ऐसी ही हरकत पर आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगा दिया गया है. इन लोगों पर अस्पताल परिसर में बिना पैंट नग्न घूमने, नर्सों के साथ छेड़छाड़ और अश्लील इशारे करने, अस्पताल स्टाफ से बीड़ी सिगरेट मांगने के भी आरोप हैं. मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने डीएम, एसएसपी और स्थानीय पुलिस को इसकी लिखित शिकायत दी, जिसके बाद यूपी सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया. दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है.

ग़ाज़ियाबाद की घटना पर यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”ये ना क़ानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं, जो इन्होंने महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किया है, वह जघन्य अपराध है, इन पर रासुका (एनएसए) लगाया जा रहा है, हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं.”

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

[ad_2]

Source link

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts