Breaking News

Recent Posts

गोदी मीडिया के लिए क्यों मंदी से ज्यादा जरूरी है हेमन सोरेन के ब्यान को तोड़ना मरोड़ना   

गोदी मीडिया

भले ही भाजपा के प्रवक्ता को 5 ट्रिलियन में कितने जीरो होता है नहीं मालूम लेकिन गोदी मीडिया के पाँच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के कानफाड़ू शोर झारखंड में जरूर गूँज रही है। लेकिन सच्चाई यह है कि देश के अन्य राज्यों की भाँती झारखंड की अर्थव्यवस्था भी मंदी के खाई में …

Read More »

झारखंडी सम्मान, हमारी बहनों की बेइज्जती होने पर भी सुदेश क्यों नहीं बोलते 

झारखंडी सम्मान

आंगनबाड़ी बहने नहीं हमारी झारखंडी सम्मान की बेइज्जती है  झारखंड में आंगनबाड़ी वर्कर्स, गुलाबी साड़ी में नेवी ब्लू रंग की पाड़ वाली महिलाओं का झुंड, यूँ कहें कि झारखंड भर के शिशुओं की माँ, अपने खुद के बच्चों को बिलखते छोड़, अपने घरों को बेसहारा छोड़, जीने के आम शर्तों …

Read More »

एक तानाशाह तो एक झारखंडी माटी पुत्र 

एक तानाशाह और एक माटी पुत्र

शोषण करने वाले शोषण सहने वाले से कहीं अधिक दोषी होते है क्योंकि, शोषित परिश्रमी होते हैं जबकि शोषक ऐयाशबाज़, एक तानाशाह व आरामदेह जीवन बिताने वाले। यही वजह है कि मनुष्य आज जानवर शरीके जीने को मजबूर हैं। शोषक जानते हैं कि शोषित में कभी एकता नही बनेगी, इसलिए …

Read More »