Breaking News

Recent Posts

ज्योतिराव फुले : मौर्य, शाक्य, कुशवाहा व सैनी समाज का गौरव              

ज्योतिराव फुले

बहुजन समाज का मानना है कि ऐसे तो सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के नाम पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है, लेकिन इतिहास खंगालने पर वे इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि शिक्षा के क्षेत्र में ज्योतिराव फुले जी का योगदान कहीं ज्यादा है। आधुनिक भारत में सवर्ण होने के नाते प्रचार …

Read More »

गोल घूमता लोकतंत्र… ! महज 70 बरस में

गोल गोल घूमता लोकतंत्र

गोल गोल घूमता लोकतंत्र… 1947, देश आजाद हुआ था। नयी नवेली सरकार, प्रधानमंत्री नेहरू और गृहमंत्री सरदार पटेल देशी रियासतों को आज़ाद व एक भारत का हिस्सा बनाने के लिए जद्दोजहद कर रहे थे। तकरीबन 562 रियासतों को साम दाम दंड भेद की नीति से एक भारत बनाने के प्रयास …

Read More »

भूख से मौत इक्कीसवीं सदी में होना सरकार की नाकामी : पंकज प्रजापति

भूख से मौत

चतरा, कान्हाचट्टी के डोडेगड़ा गांव में झींगुर भुइयाँ की भी मौत भूख से हों गयी थी। झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष पंकज कुमार प्रजापति ने वहाँ का दौरा किया और मृतक की पत्नी को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराया। दौरे के दौरान घटनास्थल से प्राप्त जानकारियों में पाया कि मृतक …

Read More »