श्रमिकों के मान-सम्मान के लिए तत्पर है हेमन्त सरकार -आठ लाख से अधिक कॉल दर्ज

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
श्रमिकों के मान और सम्मान
  • श्रमिकों के मान और सम्मान के लिए तत्पर सरकार
  • प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए महा अभियान
  • मजदूरों से जुड़े आठ लाख से अधिक कॉल दर्ज

रांची : कोरोना कालखंड में बड़ी संख्या में झारखण्ड के प्रवासी श्रमिक देश के अलग-अलग राज्यों में फंस गए थे. उन श्रमिकों के समक्ष कई समस्याएं थी. उन्हें तत्काल मदद की जरूरत थी. प्रवासी श्रमिकों की दयनीय स्थिति का पता चलने के बाद मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निर्देश पर 27 मार्च 2020 को राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष की स्थापना हुई. राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष का संचालन राज्य सरकार के श्रम विभाग द्वारा फिया फाउंडेशन के सहयोग से किया जा रहा है. श्रमिकों की मदद के लिए जो पिछले साल शुरू हुआ महा अभियान अब भी जारी है. नियंत्रण कक्ष के द्वारा अब तक लाखों श्रमिकों की मदद जा चुकी है. 

अब तक आठ लाख से अधिक श्रमिकों के कॉल हुए हैं दर्ज 

राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष में कुल मिलाकर 8,22,239 कॉल आये हैं. इनमें पिछले साल 27 मार्च से 31 दिसंबर 2020 की अवधि में 5,097,56 कॉल दर्ज हुए थे. जबकि 01 जनवरी से 25 जून 2021 की अवधि में 3,12,483 कॉल दर्ज किए गये. ये कॉल लेह लद्दाख, अंडमान निकोबार सहित देश के कई अन्य राज्यों से आये थे जिनमें मजदूरों द्वारा मदद मांगी गयी थी. इसके अलावा नेपाल, मीडिल ईस्ट, भूटान, म्यांमार, बहरीन, स्वीडन, नाईजीरिया, साउथ अफ्रीका, दुबई, सउदी और मलेशिया में फंसे कामगारों ने भी मदद मांगी. उन सभी तक मदद पहुंचाई गई.

मजदूरों के बकाया मज़दूरी भी दिलाया गया

कई मजदूरों ने शिकायत की थी कि वे जहां पर काम कर रहे थे. वहां उनका मेहनताना फंसा हुआ है. मांग करने के बाद भी श्रमिकों को मेहनताना नहीं मिल रहा था. इसके बाद प्रवासी नियंत्रण कक्ष ने पहल कर मज़दूरों की मजदूरी अदा करवाए. पिछले वर्ष श्रमिकों का बकाया 26,15,285 रुपये वसूल कराये गये थे. इस वर्ष अभी तक 11,77,086 रुपये की वसूली हुई है.  

श्रमिकों की हुई कांउसेलिंग 

नियंत्रण कक्ष की ओर से जनवरी से जून 2021 तक करीब 4828 मजदूरों की काउंसेलिंग की गई. समस्याओं को समझने के बाद उनतक जरूरत के मुताबिक सहायता पहुंचाई गई. अब तक कुल 4,732,57 मज़दूरों की काउंसेलिंग की गई है. जिससे उन्हें राहत पहुंची है. 

जारी है मदद का यह अभियान 

मज़दूरों की मदद के लिए पिछले साल शुरू हुआ अभियान अब भी जारी है. और राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष लगातार सक्रिय है. श्रमिकों के लिए सात लैंड लाइन और पांच व्हाट्सएप नंबर जारी किए गए हैं. ये नंबर हैं –

0651-2481055, 0651-2480058, 0651-2480083, 0651-2482052, 0651-2481037, 0651-2481188, 18003456526, 9470132591, 9431336427, 9431336398, 9431336472, 9431336432.

देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए नियंत्रण कक्ष शुरू हुआ था. जो अब एक मिशन में बदल गई है. श्रमिकों के अधिकारों का हनन न हो, सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है. मज़दूरों की समस्याओं के निदान हेतु नियंत्रण कक्ष कई हेल्पलाइन नंबरों के साथ लगातार क्रियाशील है.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.