पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021 : विकास की सूची में झारखण्ड पहुंचा सीधा तीसरे स्थान पर

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021

थिंक टैंक ‘पब्लिक अफेयर सेंटर’ 2020 की रैंकिंग की तुलना में पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021 में झारखण्ड का 11 स्थानों की अप्रत्याशित छलांग. जबकि 2019 की रैंकिंग में ओवर ऑल गवर्नेंस परफॉर्मेंस श्रेणी में भी राज्य को मिला था 16वां स्थान.

रिपोर्ट – बेंगलुरु स्थित थिंक टैंक ‘पब्लिक अफेयर सेंटर’ द्वारा जारी ‘पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021’ की सूची में विकास की गति के मामले में झारखण्ड को तीसरा स्थान मिला है. वहीं गवर्नेन्स परफॉर्मेन्स की कैटेगरी में झारखण्ड को 18 बड़े राज्यों में नौवां स्थान प्राप्त हुआ है. इस वर्ष का राज्य को वहां की सरकारों की विकास गति, पॉलिसी मेकिंग, कोविड महामारी के दौरान किए गए राहत कार्य के अध्ययन पर आँका गया है.

रांची : झारखंड के 20 वर्षों के इतिहास में शायद यह पहला मौका है जब विकास की गति लगभग देश भर के परिपूर्ण राज्यों के बराबर आ खड़ा हुआ है. निसंदेह भाजपा के 15 वर्षों के कुशासन से त्रस्त झारखंड को हेमन्त सत्ता में नयी उर्जा ही नहीं, स्पष्ट लक्ष भी मिला है. ज्ञात हो, केन्द्रीय भाजपा सत्ता के सौतेले व्यवहार के अक्स में हेमन्त सत्ता अल्प संसाधन के बीच भी दृढ इच्छाशक्ति के साथ आगे बढ़ लोकतंत्र के मूल्यों का मान बढ़ाया है. भात-भात कहते हुए काल के ग्रास बन जाने वाले प्रदेश में विकास की सूची में राज्य को तीसरा स्थान प्राप्त होना, निसंदेश हेमन्त सरकार को बधाई के पात्र तो भाजपा की भ्रम की राजनीति के लिए आईना है.

मनरेगा तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के क्षेत्र हुआ है बेहतर काम

ज्ञात हो, पब्लिक अफेयर सेंटर प्रति वर्ष राज्य सरकारों के क्रियाकलापों को विभिन्न पैमानों पर मापते हुए सूची जारी करती है. जिसके आधार पर राज्यों की रैंकिंग की जाती है. इस वर्ष की रैंकिंग राज्य सरकार के प्रदर्शन को विकास, पॉलिशी मेकिंग तथा राज्य के संसाधनों के सस्टेनेबल इस्तेमाल के आधार पर तैयार किया गया है. इसके अतिरिक्त इस वर्ष केन्द्र सरकार की पांच योजनाएं, जिनमें मनरेगा तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (आयुष्मान) के बेहतर क्रियान्वयन को भी शामिल किया गया था. 

साथ ही पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021 की रिपोर्ट को तैयार करने में कोविड-19 के प्रसार के दौरान राज्य सरकार द्वारा महामारी के प्रसार को रोकने एवं आमजन को राहत पहुंचाने में किए गए राहत कार्यों को भी जगह दी गई.

ओवरऑल कैटेगरी इन्डेक्स में भी झारखण्ड का प्राप्त हुआ 9वां स्थान

ज्ञात हो, रघुवर सरकार के कार्यकाल में, पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2020 की रैंकिंग में, विकास की गति की श्रेणी में झारखण्ड का 14वां स्थान मिला था. लेकिन हेमन्त सरकार के कार्यकाल में, इस वर्ष झारखण्ड ने 11 स्थानों की छलांग लगाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया है. इसी प्रकार –

  • गवर्नेन्स परफॉर्मेन्स ओवरऑल कैटेगरी इन्डेक्स –2020 में राज्य को 15वां स्थान प्राप्त हुआ था. जबकि इस वर्ष 6 स्थानों की छलांग लगाकर झारखण्ड ने 9वां स्थान प्राप्त किया है. 
  • पब्लिक अफेयर इंडेक्स-2019 में विकास करने की श्रेणी में राज्य को 13वां स्थान तथा ओवरऑल केटेगरी में 16वां स्थान दिया गया था.

मसलन, निश्चित रूप से पब्लिक अफेयर इन्डेक्स-2021 के आंकड़े दीपावली के अवसर पर जहाँ झारखंड वासियों को खुशिया देगी तो वहीं जनहित कार्यों के मद्देनजर हेमन्त सरकार के मनोबल को बढ़ाएगा.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.