Breaking News
Home / Masonry Layout

Masonry Layout

Spread the love

साथ लोकसभा-विधानसभा चुनाव भी नहीं बचा पायेगा रघुबर दास को

साथ विधानसभा लोकसभा चुनाव

लोकसभा चुनाव के साथ झारखंड विधानसभा चुनाव करना चाहती है भाजपा  कडक चाय का मायना ही देश में अब बदल चुका है। साथ ही झटके में लगने लगा है कि जेटली-गडकरी समेत अन्य मुख्य भाजपा के नेता पार्टी में अपनी जगह ऊपर करने में जोर-शोर से जा जुटे है। तो अब …

Read More »

संविधान जब सत्ता ही हो जाये तो फिर गणतंत्र दिवस किसके लिए !

संविधान

सत्ता ही संविधान हो गया है  26 जनवरी की पूर्व संध्या पर तीन “भारत रत्न” मिलने की खबर समेत देश ने 70वें गणतंत्र दिवस को भी मना लिया। राजपथ से लेकर जनपथ और राज्यों में राज्यपालों के तिरंगा फहराने की चकाचौंध के तले यह गणतंत्र दिवस भी सत्ता के उन्हीं …

Read More »

गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) किसके लिए ?

गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस के उलझे रास्ते  मुड़कर चंद बरस पहले के वक्त को देखना और यह सोचना कि तब आजादी का मतलब यह तो नहीं था जो आज हो चला है। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का तमगा पाने का हक छाती से लटकाए जिस राग को संविधान पारित के बरस …

Read More »

मतदाता दिवस पर विकास मंत्र एवं हिन्दु राष्ट्रवाद का सपना फुस

मतदाता दिवस

25 जनवरी मतदाता दिवस बीते वर्षों में भाजपा ने साबित किया कि राजनीतिक सत्ता ही उनके लिए वंदे मातरम है और इस देश का राजनीतिक सच ही लोकतंत्र हो गया है। यहाँ कुल लोकसभा और राज्यसभा सदस्य 786 हैं और कुल विधायकों की संख्या 4120 है। साथ ही देश के …

Read More »

बजट : चुनावी महासमर में रघुबर के फेंके बजटीय पासे की चौसर छोटी!

बजट

वित्त मंत्री जेटली के कैंसर इलाज हेतु न्यूयार्क चले जाने की स्थिति में सवाल है कि केन्द्रीय बजट एक फरवरी को पेश कौन करेगा? ऐसी स्थिति में 31 जनवरी को पेश होने वाले आर्थिक समीक्षा के आंकडे क्या मैनेज होगें? आर्थिक सलाहकार ने अपने पद से इस्तीफ़ा देकर इसके संकेत …

Read More »

हेमन्त सोरेन का झारखंड प्रदेश के साथ-साथ देश के पटल पर बढ़ता कद 

हेमन्त सोरेन

आगामी महासमर 2019 के चुनावों को लेकर झारखण्ड के नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन जिस लकीर को खींच रहे है वह केवल राजनीति भर नहीं है, बल्कि चुनावी महासमर या महाभारत की गाथा का ऐसे दस्तावेज तैयार कर रहे हैं, जिसमे संविधान और लोकतंत्र की परिभाषा सत्ता के चरणो में नतमस्तक …

Read More »

स्कूलों का विलय झारखंडियों को सस्ता मजदूर बनाने की साजिश

झारखंड में रघुबर सरकार राज्य के प्राथमिक व मध्य विद्यालयों को बंद कर पास के किसी स्कूल में विलय करने की घोषणा की है। इसका एक मात्र कारण इन स्कूलों में छात्रों की संख्या कम होना बताया जा रहा है। लेकिन ये यह नहीं बता रहे कि आखिर इन प्राथमिक …

Read More »

सम्मान राशि सामाजिक अगुवाओं के लिए सम्मान या अपमान!

सम्मान राशि

सम्मान राशि के नाम पर सामाजिक अगुवाओं का अपमान! शिबू सोरेन के नेतृत्व एवं लड़ाका झारखंडियों के संघर्ष और बलिदान के बदौलत वर्ष 2000 में झारखंड राज्य भारत के मानचित्र का एक अभिन्न अंग बना अलग झारखंड राज्य के आन्दोलन में आदिवासियों के बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने की मुख्य वजह जल, जंगल …

Read More »

राष्ट्रीय-दल अपनी भूमिका पर पुनर्विचार करें

राष्ट्रीय-दल

  भारत एक प्रजातान्त्रिक देश है। प्रजातान्त्रिक व्यवस्था में जनता द्वारा जनता के कल्याण के लिए एवं जनता द्वारा शासन किया जाता है। प्रजातान्त्रिक शासन प्रणाली में सभी नागरिकों को यह अधिकार होता है कि उनकी आवाज को सुना जाए चाहे वे किसी भी धर्म, जाति, लिंग या क्षेत्र के …

Read More »

मानदेय के नाम पर आदिवासियों को आपस में लड़ाने की साजिश

मानदेय के नाम आदिवासियों को आपस में लड़ाने का प्रयास

मानदेय के नाम पर सरकार भ्रम फैलाने की स्थिति में  प्रागेतिहासिक काल में मनुष्य जब घूमते हुए थक गए होंगे तब उन्हें ख़याल आया होगा बसेरा बना कहीं एक ही जगह थम जाया जाए। उस स्थान पर घर बनाये होंगे, सुरक्षा एवं आपसी कलह के अनुभवों से नियम बनाये होंगे। …

Read More »
%d bloggers like this: