हेमन्त सरकार के योजनाओं की केंद्र भी कर रही सराहना, ‘दीदी बागिया’ के बाद अब ‘जाकिर हुसैन पार्क जीर्णोंद्वार’ चर्चा में

नगर विकास विभाग संभालते हुए सीएम द्वारा जाकिर हुसैन पार्क जीर्णोंद्वार का दिया गया था नगर आयुक्त को निर्देश. हेमन्त सरकार का यूनिवर्सल पेंशन योजना अगर देशभर में होती है लागू, तो देश के तमाम जरूरतमंदों को मिल सकेगी राहत…

रांची : झारखण्ड में मुख्यमंत्री हेमन्त सरकार का दो वर्ष का कार्यकाल कल्याणकारी योजनाओं की बौछार के लिए याद किया जा सकता है. और सभी योजनाओं का लक्ष्य संबंधित वर्ग को राहत पहुंचाने के उद्देश्य शुरू किया गया. अल्प काल में भी योजनाओं ने सकारात्मक प्रभाव दिखाए हैं. नतीजतन, केंद्र सरकार द्वारा भी हेमन्त सरकार की योजनाओं का सराहना किया गया है. विडम्बना है कि हेमन्त सरकार के योजनाओं का यह प्रभाव झारखण्ड भाजपा के नेताओं को नहीं दिखता है. और वह मीडिया से कहते दिखते हैं कि हेमन्त सरकार में कोई नई योजना की शुरुआत ही नहीं हुई है. शायद मुद्दों के अभाव में यह उनका भ्रम फैलाने का प्रयास भर हो सकता है.

ज्ञात हो, महज चन्द दिन पहले ही केंद्रीय ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री ने अपने रांची दौरे में राज्य सरकार की दीदी बागिया योजना का तारीफ की है. उन्होंने कहा कि झारखण्ड की दीदी बगिया योजना को दूसरे राज्य को भी अपनाना चाहिए. वहीं, अब सीएम हेमन्त सोरेन के नेतृत्व में नगर विकास विभाग द्वारा राजधानी के जाकिर हुसैन पार्क का जीर्णोंद्वार हुआ है. इसकी भी केंद्र में चर्चा जोरों पर है. गौरतलब है कि सीएम ने फरवरी 2020 को पीएम से अपनी महत्वाकांक्षी यूनिवर्सल पेंशन स्कीम को देशभर में लागू करने की आग्रह की थी. ऐसे में केंद्र द्वारा हेमन्त सोरेन की बात मानी जाती है तो झारखण्ड की तरह देश के जरूरतमंदों को पेंशन योजना से लाभ मिल पायेगा.  

जाकिर हुसैन जीर्णोंद्वार काम को केंद्रीय मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर जारी किया है सीख लेने की अपील 

ज्ञात हो, राजधानी स्थित राजभवन के समीप स्थित डॉ. जाकिर हुसैन पार्क लगभग कूड़ा दान ही बना हुआ था. शहर के बीचो-बीच स्थित इस पार्क से फूलों की ख़ुशबू के जगह कचड़े का दुर्गन्ध आता था. जो कई तरह के संक्रमण का कारण बना हुआ था. पार्क की दुर्दशा से मुख्यमंत्री विपक्ष काल से अवगत थे. मसलन, हेमन्त सोरेन सीएम के पद पर आसीन होते ही, कोरोना काल से निजात पाते ही, उन्होंने रांची नगर निगम के नगर आयुक्त को इस पार्क के जीर्णोंद्वार करने का निर्देश दिया. 

नगर आयुक्त मुकेश कुमार के नेतृत्व में नगर निगम के कर्मठ युद्धाओं द्वारा डॉ. जाकिर हुसैन पार्क को आम लोगों के मनोरंजन के लिए मात्र 75 घंटे में तैयार किया गया. मुख्यमंत्री स्वयं मामले में सजग दिखे. केंद्र सरकार ने भी रांची नगर निगम के कार्यों की सराहना की और अन्य दूसरे निकायों से ऐसे चैलेंज लेने की अपील की. आरएमसी के इस कार्य को केंद्रीय आवासन एवं शहरी विकास मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर जारी भी किया है. जिससे दूसरे निकाय भी सीख ले सके.

सखी मंडलों के जरिये आजीविका सशक्तिकरण व दीदी बागिया योजना की हो चुकी है सराहना

बीते 24 दिसम्बर को एक सरकारी कार्यक्रम में शामिल होने राजधानी रांची पहुंचे केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव एनएन सिन्हा द्वारा हेमन्त सरकार की दीदी बागिया योजना की जैम कर तारीफ की गयी. उन्होंने हेमन्त सरकार द्वारा पिछले 2 वर्षों से सखी मंडलों के जरिये आजीविका सशक्तिकरण में किए जा रहे कार्यो की भी सराहना की. साथ ही, उनके द्वारा दूसरे राज्यों को भी आजीविका संसाधन केंद्र एवं दीदी बगिया योजना समेत अन्य गतिवधियों को अपने राज्यों में लागू करने को निर्देशित किया गया. 

ज्ञात हो, दीदी बागिया योजना महिला सशक्तिकरण, कुपोषण और बेरोजगारी निवारण से जुड़ी एक बेहतरीन योजना है. इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को स्थापित होने वाली विभिन्न नर्सरी में सहायक बनाया जाना है. ताकि उन्हें छोटे-छोटे काम सौंपा जा सके. जिससे वह आत्मनिर्भर व सशक्त बने. और यह प्रयास ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों के लिए कुपोषण से लड़ने में कारगर हथियार साबित हो. साथ ही उन्हें स्वच्छ प्राकृत और स्वस्थ खाना मिल पाए. 

यूनिवर्सल पेंशन स्कीम को लेकर हेमन्त की अपील केंद्र द्वारा मानी जाती है तो देशभर के जरूरतमंदों को मिलेगा समस्याओं से निजात 

झारखण्ड में लागू यूनिवर्सल पेंशन स्कीम को सीएम हेमन्त सोरेन द्वारा देशभर में लागू करने की मांग पीएम नरेंद्र मोदी से की गयी है. 20 फरवरी 2021 को गर्वनिंग काउंसिल मीटिंग में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इसे लागू करने की मांग की थी. सीएम हेमन्त सोरेन द्वारा मांग की गयी थी कि क्या देशभर में मिलने वाले पेंशनों को हम यूनिवर्सल नहीं कर सकते हैं. क्या देशभर के बुर्जुगों को यूनिवर्सल पेंशन का लाभ देने का पहल नहीं किया जा सकता है. अगर हेमन्त सोरेन की मांग केंद्र द्वारा मान लिया जाता है, तो जिस तरह झारखण्ड के सभी जरूरतमंदों को पेंशन योजनाओं का लाभ मिल रहा है, वैसा ही लाभ देशभर के गरीबों को भी मिल पायेगा.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.