महिला विधायकों

झारखंड में एक मुख्यमंत्री द्वारा महिला विधायकों (शेरनियों) का सम्मान… के मायने

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस – मुख्यमंत्री द्वारा महिला विधायकों का सम्मान, 1000 दिनों का कुपोषण व एनीमिया मुक्ति का अभियान, पिंक ऑटो की अगली कड़ी पिंक बस… महिला जुझारू मानसिकता का भावपूर्ण कद्र

महिला एवं बाल विकास मंत्री जोबा मांझी। विधायक सीता सोरेन। विधायक अंबा प्रसाद। विधायक दीपिका पांडेय। विधायक पूर्णिमा सिंह। विधायक पुष्पा देवी। विधायक सविता महतो।…आदि। अवसर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का हो। और मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन द्वारा महिला विधायकों (सिपाहियों) का झारखंड में सम्मान। महिला जुझारू मानसिकता का कद्र। पूर्व शिक्षा मंत्री गीताश्री उरांव के भरोसे का सम्मान। असाध्य रोग से जूझ रही डॉली कुमारी के बेहतर इलाज व आर्थिक मदद के उस आग्रह को भरोसा दे। तो माना जा सकता है कि हेमन्त सोरेन बतौर मुख्यमंत्री, स्पष्ट समझ लिए पुरुष प्रधान के सामाजिक ढांचे को ढाने को तैयार हैं।   

इस फेहरिस्त में, जहाँ उस मंशे की स्पष्ट छाप छोड़ती दूसरी छवि भी मौजूद हो। साक्षी फौजी कॉलिंग का प्रोमोशन मंच हो। और झारखंड में मुख्यमंत्री का 1000 दिनों का अभियान महिलाओं के कुपोषण व एनीमिया मुक्ति से सरोकार रखे। मुख्यमंत्री को उन्नत समाज-राज्य की परिकल्पना स्वस्थ महिलाओं के अक्स में झलके। और 2021-22 बजट भी राज्य की महिलाओं के हित की वकालत करे। जहाँ सखी मंडलों के लिए 449 करोड़। क्रेडिट लिंकेज की उपलब्धता 546 करोड़ का करोड़। गर्भवती-धात्री महिलाओं व शिशु पोषण हेतु 500 करोड़। अतिरिक्त बाड़ी योजना 250 करोड़। का सच उभारे। तो जाहिर है विपक्ष भी मुख्यमंत्री के मंशे से इत्तेफाक नहीं रख सकती। 

ओलम्पिक में दीपिका, कोमालिका बारी व अंकिता भकत तीन झारखंडी बेटियों की मजबूत दावेदारी  

महिला सशक्तिकरण के मद्देनजर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का कदम 14 माह के वह कार्यकाल भी यही सच लिए हो। जहाँ का महिलाओं की दस्तक रांची के सड़कों पर पिंक ऑटों के रूप में दिखे। तो वर्तमान में महिलाओं के दो पिंक सिटी बसें उस आत्मविश्वास का सच लिए विस्तारीकरण के रूप में तो दिखेगा ही। मसलन, तानों-बानों में सिमटी तमाम परिस्थितियों के बीच देश भर में खबर आये हो, आगामी ओलंपिक खेल में चयनित तीन महिला तीन पुरुष सदस्यों में, दीपिका, कोमालिका बारी व अंकिता भकत, तीनों महिला सदस्य झारखंड की बेटी हो। तो यह उस मुख्यमंत्री के लिए उसके पांवों के छालों का इनाम हो सकता है।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.