झारखंड : कोविड-19 वैक्सीनेशन के मामले में राजधानी रांची ने बनाया रिकॉर्ड 

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
कोविड-19 वैक्सीनेशन
  • मोबाइल वैक्सीनेशन बना मुख्य आधार 
  • मोबाइल वैन के माध्यम से 1 लाख से ज्यादा लोगों हुआ टीकाकरण 
  • 28 मई 2021 को 02 मोबाइल वैन से कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान की हुई थी शुरुआत 
  • अब 11 मोबाइल वैन से हो रहा है टीकाकरण 
  • वैक्सीनेशन कवरेज में रांची जिला अव्वल

कोरोना महामारी से निजात के मद्देनजर झारखण्ड में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन का एक और संवेदनशील चेहरा दिखा है. राज्य में कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर विभिन्न प्रकार के कदम उठाये जा रहे हैं. इसी कड़ी में मोबाइल वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई है. जिसका फायदा भी दिखने लगा है. कोविड-19 वैक्सीनेशन के मामले में राजधानी रांची ने रिकॉर्ड बनाया है. मोबाइल वैन के माध्यम से टीकाकरण कार्य में अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगाया जा चुका है. एक लाख से ज्यादा लोगों को टीकाकरण करने वाला रांची राज्य का पहला जिला बन गया है.

28 मई 2021 को हुई थी मोबाइल वैन से कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत

विशेष चलंत टीकाकरण अभियान की शुरुआत 28 मई 2021 को हुई थी. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा इस अभियान की शुरुआत हुई थी. 28 मई से 10 अक्टूबर 2021 तक जिला में मोबाइल वैक्सीनेशन के माध्यम से अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हो चुका है. मोबाइल वैक्सीनेशन की शुरुआत 02 मोबाइल वैन से हुई थी. माननीय स्वास्थ्य मंत्री ने हरी झंडी दिखाकर मोबाइल वैन को रवाना किया था. बाद में ज़िला प्रशासन द्वारा 9 और मोबाइल वैन बढ़ाये गए. वर्तमान में कुल 11 मोबाइल वैन से रांची के अलग-अलग स्थानों पर वैक्सीनेशन कार्य हो रहा है.

कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए बाकायदा बनाया गया है कंट्रोल रूम 

मोबाइल वैन से कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए रांची जिला में कंट्रोल रूम नंबर भी बनाया गया है. 7546028221 पर कॉल कर लोग मोबाइल से संपर्क साध सकते हैं. एक स्थान पर 50 से ज्यादा लोग होने पर जिला प्रशासन द्वारा उक्त स्थान पर मोबाइल वैन के माध्यम से टीकाकरण का कार्य कराया जाता है. रांची जिला में 28 मई 2021 से 10 अक्टूबर 2021 तक अब तक कुल 1804 स्थानों पर टीकाकरण का कार्य किया जा चुका है. इस दौरान एक लाख से ज्यादा लोगों को कोविड-19 टीका दिया गया.

मोबाइल वैन से ट्रांसजेंडर का भी टीकाकरण

ज्ञात हो, राज्य में रांची जिला ने सबसे पहले ट्रांसजेंडर के कोविड-19 वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई. विभिन्न स्थानों पर मोबाइल वैन के माध्यम से ट्रांसजेंडर्स का भी टीकाकरण जिला प्रशासन की टीम द्वारा किया जा रहा है. कोविड-19 टीकाकरण में रिकॉर्ड बनाने के बाद उपायुक्त रांची छवि रंजन ने खुशी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की वैक्सीनेशन टीम ने कड़ी मेहनत की है. मौसम जैसा भी रहा, टीम वक्त पर पहुंची और कार्य किया. उपायुक्त ने कहा- शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त होने तक अभियान जारी रहेगा.

मोबाइल वैक्सीनेशन के पीछे यह था उद्देश्य

शुरुआत में कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और बड़ी आबादी के इंटरनेट फ्रेंडली नहीं होने के कारण मोबाइल वैक्सीनेशन की शुरुआत की गई. इसके पीछे जिला प्रशासन की सोच थी कि जल्द से जल्द लोगों को टीका उपलब्ध कराया जाए. कोविड-19 वैक्सीनेशन कवरेज में रांची जिला पूरे राज्य में आगे है. रांची जिला में 14 लाख से ज्यादा फर्स्ट डोज और करीब 6 लाख सेकंड डोज़ लोगों को दिया जा चुका है. cowin.gov.in पर वैक्सीनेशन स्टैटिसटिक्स पर इससे संबंधित अद्यतन जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.