जन कल्याण के लिए मुख्यमंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा व शिक्षा को लेकर गंभीर, विभागों की हुई समीक्षा

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
जन कल्याण

जन कल्याण के मद्देनजर मुख्यमंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा एवं शिक्षा को लेकर शुरूआती कार्यकाल से ही गंभीर रहे हैं. इसी का नतीजा है कि झारखंड आभाव में भी कोरोना संकट से लड़ सका.

  • मेडिकल कॉलेज में छात्रों के नामांकन में आ रही अड़चनों को दूर करने का निदेश
  • एम्बुलेंस की उपलब्धता हर जरूरतमंद को प्राप्त हो इस निमित एक प्लेटफार्म बनने का आदेश
  • रिम्स के री-डेवलपमेंट प्लान देखा, पंचायत स्तर पर दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं और मेडिको सिटी की जानकारी ली

नर्सिंग के क्षेत्र में पुरुषों को भी प्राथमिकता दें

रिम्स के लिए मास्टर प्लान तैयार करें

जिला अस्पतालों में मिले बेहतर सुविधाएं

हेमन्त सोरेन, मुख्यमंत्री

रांची : जन कल्याण के मद्देनजर मुख्यमंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा एवं शिक्षा को लेकर शुरूआती कार्यकाल से ही गंभीर रहे हैं. इसी का नतीजा है कि झारखंड आभाव में भी कोरोना संकट से लड़ सका. पिछले दिनों स्वास्थ्य विभाग समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री द्वारा रिम्स रांची के लिए मास्टर प्लान तैयार करने का निर्देश दिया गया. जिससे रिम्स को नया स्वरूप दिया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल में मरीजों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य हो. पंचायत स्तर पर भी ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो, इस दिशा में कार्य करें. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे सड़कों या ब्लैक स्पॉट को चिन्हित किया जाए जहां अधिक दुर्घटनाएं होती है. ऐसे स्थानों पर ट्रामा सेंटर को प्राथमिकता दें. ताकि दुर्घटना में घायल लोगों का तत्काल उपचार सुनिश्चित हो सके. मुख्यमंत्री ने कहा राज्य के मेडिकल कॉलेजों में नामांकन को लेकर आ रही अड़चनों को यथाशीघ्र दूर करें.

जन कल्याण के एम्बुलेंस को एक प्लेटफार्म पर लाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सरकारी और निजी अस्पतालों के एम्बुलेंस को एक प्लेटफार्म में लाने का कार्य करें. इन्हें जीपीएस प्रणाली से जोड़े. ताकि सरकारी और निजी दोनों एम्बुलेंस का उपयोग किया जा सके. निजी एम्बुलेंस के लिए उन्हें कार्य के बदले भुगतान करने की व्यवस्था हो.

पुरुष को भी नर्सिंग के लिए प्रोत्साहित करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि निजी अस्पतालों में कार्यरत नर्सों का डाटा बेस तैयार करें. ताकि उनकी संख्या का सही आकलन हो सके. नर्सिंग के क्षेत्र में पुरुष को भी प्रोत्साहन दें. ताकि जरूरत के अनुसार विभिन्न अस्पतालों में उनसे कार्य लिया जा सके.

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में एमजीएम जमशेदपुर के निर्माणाधीन नये भवन और दुमका, हजारीबाग, पलामू, पश्चिमी सिंहभूम में निर्माणाधीन फार्मेसी शिक्षा संस्थानों की कार्य प्रगति, मेडिकल कॉलेज में पठन पाठन की व्यवस्था, पीजी और एमबीबीएस सीटों, और मेडिकल कॉलेज में शैक्षणिक संवर्ग के विभिन्न पदों की स्वीकृति एवं धारित पदों, टेली मेडिसिन, ई-संजीवनी, मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी ली.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.