Breaking News

Classic Layout

रेमोन मैगसेसे

रेमोन मैगसेसे अवार्ड रवीश कुमार को देने की घोषणा क्यों?

मशहूर पत्रकार रवीश कुमार को रेमोन मैगसेसे अवार्ड देने की घोषणा हुई है, लेकिन इस विषय पर उनका अभी तक कोई बयान आधिकारिक नहीं आया है। हाँ उनके तमाम प्रगतिशील दोस्तों ने मुबारकबाद देनी शुरू कर दी है। सवाल है कि क्या खुद को पत्रकार कहने वाले लोग रमन मैगसेसे पुरस्कार …

Read More »
मासूम बच्ची

मासूम बच्ची के साथ जमशेदपुर में फिर हुआ दुष्कर्म व हत्या 

झारखंड के किसी न किसी जिले में रोज महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटना अखबारों की सुर्खियाँ बनती है। सरकार ऐसी घटनाओं पर अब तक आँखें मूंदी रखी है और प्रशासन किसी रूप में भी रोक पाने में समर्थ नहीं दिख रहा। झारखंड की लौह नगरी जमशेदपुर को फिर मासूम …

Read More »
स्वायत संस्थाएँ

स्वायत्त संस्थाएँ जब सत्ता के लिए काम करती हैं तब शुरू होती है लोकतंत्र की लिंचिंग  

सत्ता के इशारों पर नाचते स्वायत्त संस्थाएँ  “लोग कहते हैं आंदोलन, प्रदर्शन और जुलूस निकालने से क्या होता है…? इससे यह सिद्ध होता है कि हम जीवित हैं, अटल हैं और मैदान से हटे नहीं हैं। हमें अपनी हार ना मानने वाले स्वाभिमान का प्रमाण देना था। हमें ये दिखाना …

Read More »
भाजपा नेता

भाजपा नेता ने झारखंड में रची अपहरण व लूट की साजिश 

भाजपा नेता ताजदार आलम ने ही चौड़ा राजू गैंग से मिल कर पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की भतीजी निशा कोड़ा का अपहरण कर नक़दी रुपये व गहने लूटने की साज़िश रची थी। भाजपा के इस नेता ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। पुलिस ने ताजदार आलम के साथ वारदात …

Read More »
आदिम जनजाति के बिरहोर समुदाय का हालत झारखंड में बदतर

बिरहोर के प्रति रघुबर सरकार का रवैया उदासीन 

बिरहोर, भारत की एक प्रमुख जनजाति है। बिरहोर जनजाति के संबंध में ये मान्यता है कि ये जिस पेड़ को छू देते हैं उस पेड़ पर कभी बंदर नहीं चढ़ते। बिरहोर जनजाति में परिवार सामाजिक संगठन की मूल इकाई है। साधारणतह बिरहोर परिवारों की प्रकृति पितृसत्तात्मक होती है। एक परिवार …

Read More »
राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा

राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा अपनी मांगों को लेकर सड़क पर  

राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा ने भाजपा सरकार पर लगाए कई आरोप    ‘अन्य पिछड़ा वर्ग’ (ओबीसी), भारत सरकार द्वारा जातियों को वर्गीकृत करने के लिए प्रयुक्त एक सामूहिक शब्द है। अनुसूचित जातियों व अनुसूचित जनजातियों  के साथ-साथ भारत की जनसंख्या के कई सरकारी वर्गीकरण में से एक है। भारतीय संविधान में ओबीसी …

Read More »
भ्रष्टाचार ने ली किसान की जान

भ्रष्टाचार ने झारखण्ड में ली गरीब किसान की जान 

झारखंड राज्य में अबतक सुना-पढ़ा जा रहा था कि यहाँ के गरीब की मौत या तो  भूख के वजह से हो रही थी, या फिर बेरोज़गारी युवा डिप्रेशन के शिकार हों मौत को गले लगा रहे थे। लेकिन सत्र के आखरी दिन राजधानी राँची के चान्हो थाना में एक किसान …

Read More »
नेता प्रतिपक्ष

नेता प्रतिपक्ष के सवालों पर सदन में बिफरता सत्ता पक्ष 

सदन में नेता प्रतिपक्ष के सवालों पर बिफरते हुए सत्ता पक्ष की व्यक्तिगत टिप्पणी चूँकि झारखण्ड सरकार चुनावी मोड में है इसलिए आशा के अनुरूप विधानसभा का मॉनसून सत्र हो-हंगामे के भेंट चढ़ गया। एक तरफ विधान सभा सत्र चल रहे हैं तो दूसरी तरफ राज्य के तमाम संगठन बारिश …

Read More »
नए रोज़गार

नए रोज़गार तो दूर झारखण्ड में कार्यरत कर्मियों की छटनी हो रही है 

झारखण्ड में नए रोज़गार तो दूर कार्य कर्मियों को हटाया जा रहा है  राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के चेयरमैन समेत दो सदस्यों ने इस वर्ष जनवरी में इस्तीफ़ा दे दिया, क्योंकि राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण (एनएसएसओ/NSSO) के आवर्ती श्रम शक्ति (PERIODIC LABOUR FORCE) सर्वेक्षण को आयोग द्वारा मंज़ूरी दिये जाने के बावजूद …

Read More »
ईंट-भट्ठों

ईंट-भट्ठों में ग़ुलामों की जिन्दगी जीने को मजबूर हैं झारखण्ड-बिहार के मज़दूर

झारखण्ड-बिहार के लोग हरियाणा के ईंट-भट्ठों में बंधुआ मजदूर बँधुआ मज़दूरी कहने को तो देश से समाप्त हो चुका है, लेकिन देश के कई हिस्सों में अब भी ईंट-भट्ठों, धनी किसानों के खेत व कारख़ानों में झारखण्ड-बिहार के हज़ारों लोग महज पेट की आग बुझाने के लिए बंधुआ मजदूरी करने …

Read More »