हेमन्त के एक वर्ष के शासन में राज्य में होने लगा है कमाल – बाबूलाल जी नहीं देख पा रहे

कमाल

झारखंड ने प्रधानमंत्री आवास योजना निर्माण पूरे देश मेें अव्वल, खेती-किसानी में झारखंडी युवा दिखा रहे हैं कमाल – केंद्र देख लेती है लेकिन प्रदेश भाजपा के आखों में पड़े सत्ता के भूख की पड़ी चश्मे के कारण उपलब्धिया नहीं दिखती

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने नौसेना इकाई के स्थापना की दी मंजूरी, स्वीकृति हेतु भेजा जाएगा प्रस्ताव 

राँची। लॉकडाउन में एक तरफ जहाँ केवल भाजपा शासित राज्यों में लोगो को पहुंचाया जा रहा था वहां हेमंत सरकार ही देश भर में पहली सरकार थी, जिनके प्रयासों से ट्रेन चली और गरीब श्रमिक अपने घर वापस आये। झूठलाया नहीं जा सकता। अब जो राज्य भर से कमाल की खबरे आ रही है उसे लगता है कि झारखंडवासी अब अव्वल होने की आदत डाल रहे हैं। लेकिन अफ़सोस यह केवल प्रदेश भाजपा और बाबूलाल जी को राज्य में प्रगति नहीं दिखता। 

झारखंड ने प्रधानमंत्री आवास निर्माण में देशभर में झंडे गाद दिए हैं। इस वर्ष राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास निर्माण कार्य गति इंतनी बेहतर रही कि  पूरे देश मेें राज्य अव्वल स्थान पार आया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 व 2020-21 के लिए केंद्र सरकार के परफॉरमेंस इंडेक्स में झारखंड को सबसे अधिक 82.46 फीसदी अंक मिले। जबकि राजस्थान 82.14 फीसदी अंक लाकर दूसरेस्थान पर रहा। यही नहीं झारखंड ने केटी बाड़ी के क्षेत्र में भी झंडे गाड़े हैं। 

खेती-किसानी में भी झारखंडी युवा दिखा रहे हैं अपना कमाल 

सरकार की लाचीली व्यवस्था के कारण किसानी व खेती-बाड़ी के क्षेत्र में भी झारखंडी युवाओं का जोहर देखने को मिल रहा है। ग्रामीण क्षेत्र के अलावे राजधानी और आसपास के युवा भी इस मुहीम शामिल हो अपना किस्मत लिख रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रांची के महेंद्र सिंह धौनी के खेती में हाथ अजमाने से राज्य युवाओं को प्रोत्साहन भी मिल रहा है। युवा सब्जी, दूध, मछली आदि गुणवत्तापूर्ण उत्पाद तैयार कर अलग-अलग विधियों से बाजार में बेच रहे हैं।जिससे महंगाई में भी राज्य में उत्पादों की कीमत में भरी गिरावट का अंतर देखने को मिल रहा है। 

सरकार की नयी तकनीक और सोच का इस्तेमाल कर युवा राज्य की हालात बदल रहे हैं। राजधानी के आसपास ही युवा किसान कई प्रकार का प्रयोग भी करते देखे जा सकते हैं।  झारखंड में रातू स्थित फन कैसल परिसर में युवा पहली बार बायोफ्लॉक विधि का प्रयोग कर मछली पालन कर रहे हैं। एक साल में ही युवाओं का मेहनत रंग लाती दिख रही है। विभिन्न प्रजाति की 35 से 40 टन मछली तैयार करने में सफल पायी है। बड़े ड्रम में मछली पालन यह विधि बड़ी ही नायाब है।  

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने नौसेना इकाई के स्थापना को दी मंजूरी

राज्य के युवा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के गंभीरता राज्य के युवाओं के भविष्य को लेकर देखते ही बनती है। एनoसीoसीo ग्रुप मुख्यालय, रांची के अधीनस्थ नौसेना इकाई की स्थापना एवं इसके कार्य संपादन हेतु विभिन्न कोटि के पदों के सृजन की स्वीकृति मुख्यमंत्री ने दी है। पर्यटन, कला संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य विभाग द्वारा नौसेना इकाई की स्थापना का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस नवसृजित नौसेना इकाई में 400 वरीय तथा 2100 कनीय श्रेणी के कैडेट प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.