बेरोजगारों को नौकरी

हार्वर्ड विश्वविद्यालय का हेमंत सोरेन को आमंत्रित करना जयंत सिन्हा जैसे शिष्यों को फिर से ज्ञान देना हो सकता है

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

हेमंत सोरेन को 20 फरवरी 2021 को हार्वर्ड विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को लेक्चर देंगे।

हेमंत सरकार अभी राज्य की सत्ता को ठीक से संभाली भी नहीं थी कि हार्डवड यूनिवर्सिटी से पास आउट, सांसद जयंत सिन्हा नैतिकता को परे रख झूठा बयान देने की हिम्मत करने से नहीं चूकते हैं। बयान में कहते हैं कि वर्तमान सरकार की अयोग्यता और गलत नीतियों के कारण ऐसा हुआ है। हेमंत सरकार के गठन के समय ख़ज़ाना भरा हुआ था, लेकिन यह सरकार अवांछित खर्च पर रोक नहीं लगा पाई, न ही राजस्व संग्रह कर पाई। इससे ख़ज़ाना खाली हो गया। उन्होंने चापलूसी की पराकाष्ठा पार करते हुए यह भी कह दिया कि केंद्र से आर्थिक सहयोग नहीं मिलने का राज्य सरकार का आरोप भी गलत है। 

लेकिन, उसी  हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, जहाँ सांसद जयंत ने पढ़ाई की है, ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को उनके कार्यप्रणाली का कायल हो, फरवरी में एनुअल इंडिया कॉन्फ़्रेंस (India Conference) को संबोधित करने के लिए आमंत्रित कर अपने ही विद्यार्थी के झूठ को जवाब दिया है। ज्ञात हो कि यह आमंत्रण हेमंत सोरेन द्वारा बतौर मुख्यमंत्री कोविड-19 से निपटने के लिए राज्य में किए गए कार्य व झारखंड में आदिवासी अधिकारों (tribal rights) और कल्याणकारी नीतियों से अभिभूत होने के उपरान्त ही आया है। और मुख्यमंत्री ने आमंत्रण को स्वीकार कर झारखंड वासियों को कृतार्थ किया और झारखंड की संस्कृति को नया आयाम दिया है।

झारखंड के सीएम के ऑफिसियल ट्वीट हैंडल के माध्यम से यह जानकारी आयी है कि मुख्यमत्री हेमंत सोरेन को 20 फरवरी 2021 को हार्वर्ड विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को लेक्चर देंगे। मुख्यमंत्री श्री सोरेन देश व राज्य में आदिवासी अधिकारों, सतत विकास, उनके द्वारा चलाये जा रहे कल्याणकारी नीतियों और कोरोना संक्रमण के चक्रव्यूह से राज्य को कैसे बाहर लाए, प्रबंधन क्षमता से दुनिया को अवगत करायेंगे। मसलन, हार्वर्ड विश्वविद्यालय के अपने उन शिष्ययों को एक बार फिर शिक्षा देंगे कि झूठ बोलकर न केवल वह अपनी नैतिकता का पतन करते, महान युनिवेर्सिटी का छवि भी धूमिल करने का प्रयास करते हैं। 

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts