गृह विभाग की योजनाओं की समीक्षा – मेडिसिनल प्लांट्स व लेमन ग्रास खेती को बढ़ावा 

गृह विभाग

गृह विभाग की योजनाओं की समीक्षा : राज्य में मेडिसिनल प्लांट्स और लेमन ग्रास की खेती को दिया जायेगा बढ़ावा, अफीम की अवैध खेती करने वालों को हतोत्साहित करने का हेमन्त सरकार का बेहतरीन प्रयास. साथ ही पुलिस पदाधिकारी अफीम की अवैध खेती रोकने की दिशा में उठायेंगे आवश्यक और कठोर कदम  

रांची : ज्ञात हो, झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन सामाजिक समस्या का जड़ से इलाज करने के लिए जाने जाने लगे हैं. गृह विभाग की समीक्षा के दौरान एक बार फिर ऐसा ही प्रयास दिखा.  मुख्यमंत्री ने गृह विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि राज्य में मेडिसिनल प्लांट्स और लेमन ग्रास की खेती को बढ़ावा दिया जाए, जिससे अफीम और अन्य मादक पदार्थों की अवैध खेती करने वाले हतोत्साहित होंगे.

उन्होंने कहा कि राज्य के कुछ जिलों में बड़े पैमाने पर अफीम की खेती अवैध रूप से हो रही है. यह राज्य के लिए चिंता की बात है. पुलिस पदाधिकारी इसे रोकने की दिशा में आवश्यक और कठोर कदम भी उठाएं. उन्होंने यह भी कहा कि वन भूमि पर भी मादक पदार्थों की खेती की बात सामने आ रही है. वन विभाग के अधिकारी इसकी कड़ाई से मॉनिटरिंग कर अफीम की फसल को नष्ट करने की दिशा में कदम उठाएं.

निगरानी के लिए लिया जाएगा सैटेलाइट का सहारा 

पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा ने बताया कि राज्य के सुदूरवर्ती इलाकों में अफीम की खेती की निगरानी के लिए सेटेलाइट का भी सहारा लेने पर विचार किया जा रहा है.  पुलिस महानिदेशक ने यह भी बताया कि पिछले 3 सालों में मादक पदार्थ/ एनडीसीएस के कुल 372 कांड सामने आए हैं, इनमें 576 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

लंबित और निष्पादित मामलों की जानकारी   

पुलिस महानिदेशक ने लंबित और निष्पादित आपराधिक मामलों, वारंट से जुड़े मामलों के निपटारे और स्पीडी ट्रायल से जुड़े कांडों की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि आगामी पर्व त्योहारों को लेकर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.

इस समीक्षा बैठक में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, शिक्षा विभाग, कार्मिक प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग, विधि विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग की भी समीक्षा की गई.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.