इको-टूरिज़्म के तहत हेमंत सरकार सैलानियों को झारखंड दर्शन करा करेगी रिफ्रेश

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp
इको-टूरिज़्म के बढ़ावा देने के मद्देनज़र इको रिट्रीट का आयोजन

इको-टूरिज़्म के बढ़ावा देने के मद्देनज़र इको रिट्रीट के आयोजन पर हेमंत सरकार का फोकस, कार्यक्रम में राज्य के सांस्कृतिक पहलूओं का होगा दर्शन  

बढ़ते प्रदूषण से लोगों को राहत दिलाने के लिए हेमंत सरकार राज्य में शुरू कर रही है इको-टूरिज़्म – स्थानियों को मिलेगा रोज़गार 

देश-दुनिया के बड़े शहरों में बढ़ते प्रदूषण से राहत पाने के लिए लोग इन दिनों प्रकृति की गोद में जाना पसंद कर रहे हैं। हाल के एक रिसर्च में यह खुलासा हुआ है कि भारत के लोग छुट्टियों में इको-टूरिज़्म पर जाना पसंद कर रहे। बड़े शहरों, मेट्रो सिटीज के लोग त्योहारों में मिली छुट्टियों को शहर की भीड़-भाड़ और प्रदूषण से दूर प्राकृतिक के हरी-भरी गोद में बिताना पसंद कर रहे हैं। क्योंकि लोगों के बीच यह मान्यता बढ़ रही है कि मन, मस्तिष्क को फ्रेश व ऊर्जावान बनाए रखने के लिए इको-टूरिज़्म ट्रिप पर ज़रूर जाना चाहिए। 

हाल ही में जारी किए गए एक डेटा की मानें तो फेस्टिव सीजन के दौरान होने वाले पल्यूशन से बचने के लिए 38 % लोग अकेले, जबकि 32 % लोग अपने परिवार के साथ ट्रैवल कर रहे हैं। इको-टूरिज्म सेक्टर हर साल 25% की दर से बढ़ रहा है। इसके साथ ही इसमें जो खास बात है, वह यह है कि लोग अपनी छुट्टियों को बिताने के लिए इको-लॉज, जंगल लॉज, नैचरल हैबिटैट के साथ ही ऑफबीट डेस्टिनेशन्स का रुख कर रहे हैं। यह झारखंड जैसे राज्य के लिए एक शुभ संकेत है कि देश के लोगों को इस प्रकार के टूरिज़्म की अहमियत का पता चल रहा है। 

झारखंड की सरकार का इको-टूरिज़्म के तरफ रूख -राज्य के लिए अच्छी खबर

इसी बीच झारखंड की सरकार का इको-टूरिज़्म के तरफ रूख करना राज्य के लिए एक अच्छी खबर है। इस बाबत राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विशेष कर इसके लिए पर्यटन विभाग ने विस्तृत योजना तैयार करवायी है। राज्य में पहली बार किसी सरकार ने खनन के बजाय पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नयी नीति पर कार्य रही है। पर्यटन नीति का मसौदा लगभग तैयार किया जा चुका है। जिसमे पर्यटन स्थलों के विकास व राज्य के पर्यटन स्थलों की जानकारी पहुंचाने के लिए विशेष व्यवस्था शामिल है। 

सरकार ने पर्यटन सेक्टर में स्थानीय लोगों को रोज़गार सुलभ कराने के लिए मुकम्मल योजना भी तैयार कर रही है। राज्य सरकार की पहली वर्षगांठ के मौके पर नयी पर्यटन नीति की घोषणा भी कर सकती है। साथ ही नेतरहाट, मसानजोर और डिमना लेक जैसे खूबसूरत इलाकों मे इको टूरिज्म के विकास की शुरुआत कर सकती है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसकी तैयारियों का जायजा लेने एक माह में दूसरी बार नेतरहाट दौरा कर इसके संकेत भी दिए हैं। 

इको रिट्रीट के आयोजन पर हेमंत सरकार कर रही है फोकस 

झारखंड सरकार इको टूरिज़्म फ़ेस्टिवल के तहत इको रिट्रीट कार्यक्रम के आयोजन पर योजना पर भी काम कर रही है। इको रिट्रीट का मुख्य उद्देश्य झारखंड में पर्यटन के इकोसिस्टम की ब्रांडिंग करना होगा। इस कार्यक्रम के तहत सोमवार से शुक्रवार तक बैंड शो, डांस, डीजे का प्रयोग कर वातावरण मोहक लुभावन बनाया जाएगा। शनिवार की रात नामी गायकों का शो आयोजित कर सरकार लोगों झारखंड संस्होकृति से परिचय कराएगी। यहाँ लग्जरी और अल्ट्रा लग्जरी कॉटेज का व्यवस्था होगा। प्रत्येक लोकेशन में कई प्रकार गतिविधियां आयोजित होंगी। साथ ही एडवेंचर स्पोर्ट्स, वाटर स्पोर्ट्स, साइकिल ट्रैकिंग, ओपेन एयर कैफे भी बनाये जायेंगे।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.