सीएम काफिले

सीएम काफिले पर हमले के मुख्य आरोपी के लिए बाबूलाल जी का “जी” शब्द और सुरक्षा की मांग करना, भाजपा की संलिप्तता करती है उजागर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

बाबूलाल मरांडी देश के एकमात्र पूर्व मुख्यमंत्री, जो सीएम काफिले पर हमला करने वाले गुंडे के लिए पूरे कानून व्यवस्था पर उठा रहे सवाल

पहले भी कई भाजपा नेताओं की उस गुंडे के साथ संपर्क की हो चुकी है पुष्टि

रांची। मानीय मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन, झारखंड – सीएम काफिले पर हुए सुनियोजित हमले के मुख्य आरोपी, भैरव सिंह, जो एक निम्न दर्जे के गुंडा है, ने सिविल कोर्ट राँची में खुद को सरेंडर कर दिया है। ज्ञात हो कि मामले में झारखंड पुलिस कानून सम्मत घटना की जांच कर रही है। लेकिन, बाबूलाल मरांडी जैसे सिद्धांतों! वाले भाजपा नेता द्वारा ऐसे सड़क छाप गुंड़े के लिए “जी” शब्द का प्रयोग और सुरक्षा की मांग किया जाना अचंभित तो करता ही है, सुनियोजित हमले में स्पष्ट तौर पर भाजपा की संलिप्तता भी साबित करती है। 

शोसल मीडिया गुरूवार को एक ऑडियो वायरल किया गया है। जो कथित तौर पर एक थाना प्रभारी और किसी व्यक्ति के बीच के बातचीत को लेकर है। ऑडियो में सीएम के काफ़िले में शामिल मुख्य आरोपी को लेकर बातचीत की गयी है। हालांकि वायरल ऑडियो की सच्चाई अभी जांच का विषय है। लेकिन,  इसके आड़ में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी द्वारा गुंडे के संरक्षण और सुरक्षा की मांग में, राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया जाना, निश्चित रूप से गुंडे बचाव करना हो सकता है। जो पुलिस अधिकारियों के मनोबल को तोड़ने वाला भी हो सकता है।

बाबूलाल के पॉलिटिकल सलाहकार ने किया ऑडियो वायरल

भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने जिस ऑडियो की बातचीत की है, दरअसल उसे उनके पॉलिटिकिल सलाहकार सुनील तिवारी ने अपने सोशल मीडिया में शेयर किया था। इसमें सुनील तिवारी ने लिखा है कि  

सुनील तिवारी का ट्विटर का फोटो

“सोशल मीडिया पर आज यह अपुष्ट आडियो वायरल हुआ है। इसकी सत्यता की पुष्टि होना अभी बाक़ी है। लेकिन अगर यह सच है तो यह कंफ्यूजन हो रहा है कि ये शक्स पुलिस वाला है या ख़ूँख़ार डाकू? जो पचास मर्डर कर चुके होने का दावा करते हुए इक्यावनवा (51वां) मर्डर करने की खुलेआम चुनौती डंके चोट पर दे रहा है?।”

जबाव में भाजपा के नेता बाबूलाल कहते है कि 

बाबूलाल मरांडी का ट्विटर का फोटो

राँची @ranchipolice एसएसपी इस ऑडियो का संज्ञान लें। *”भैरो सिंह जी”* को रिमांड पर लिया गया है। उनके साथ कोई वारदात होता है तो इसके लिये पुलिस के आलाधिकारियों को ज़िम्मेवार माना जायेगा। कहीं ऐसा न हो कि पुलिस का यह ख़तरनाक खेल @HemantSorenJMM सरकार के ताबूत का कील बन जाये।

केवल बाबूलाल नहीं अन्य भाजपा नेताओं से भी इस गुंडे का है सीधा संपर्क

ऐसा नहीं है कि उस गुंडे के लिए केवल हमदर्दी बाबूलाल मरांडी ने ही दिखायी है। बल्कि उस गुंडे का प्रदेश भाजपा के कई नेताओं के साथ सीधा संपर्क है। राँची विधायक सीपी सिंह का इस सड़क छाप गुंडे से नज़दीकी संपर्क हैं। एक वीडियो में यह साफ दिख रहा है कि सीएम काफिले का मुख्य आरोपी का रांची विधायक के बगल में बैठने का लहजा, तथ्य की पुष्टि करने के लिए प्रयाप्त हो सकता है। 

सीएम काफिले

सोशल मीडिया पर लिखा गया है कि @ranchipolice ये क्या है। @bjpcpsingh जी बगल में एक क्रिमिनल को बैठा कर पुलिस पर दबाव बना रहे है। जरूरी है कि पुलिस इसका संज्ञान ले। 

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts