Breaking News
Home / News (page 5)

News

all types of news.

July, 2019

  • 11 July

    आडवाणी जी की तरह सरयू राय को भी हासिये पर धकेलने की तैयारी 

    सरयू राय की स्थिति आडवाणी जी सरीखे

    मुश्किल दिनो में मोदी के साथ खडे आडवाणी जी को हाशिये पर धकेलने में जब देर नहीं लग सकती है, तो आने वाले दिनो में भी कोई संघ के प्रिय व ताक़तवर होते ही अन्य मजबूत नेताओं को भी हाशिये पर धकेल देगा। इससे गुरेज़ नहीं, यानि भाजपा के भीतर …

  • 10 July

    जनसंवाद में शिकायत करने के बावजूद लुप्त जनजातियों के गाँव में बिजली नहीं पहुंची 

    जनसंवाद

    मुख्यमंत्री जनसंवाद में शिकायत दर्ज कराने के बावजूद लुप्त जनजातियों के घरों में नहीं पहुंची बिजली रघुबर सरकार के बिजली को लेकर किये गए वायदे और आदिवासियों के प्रति प्रेम की कलई लोहरदगा जिले में खुलती नजर आयी है।  इस जिले के लुप्त प्राय जनजाति परिवार बिजली के नाम पर …

  • 10 July

    जनता सरकार की कार्यशैली को लेकर सड़क पर उतरने को मजबूर  

    जनता

    झारखंडी जनता के पास आज सरकार की कार्यशैली को लेकर सड़क पर उतरने के अलावा कोई रास्ता नहीं ! झारखण्ड में कई जगह लोग मौजूदा सरकार और उसकी प्रशासनशैली से परेशान हो सड़क पर उतरने को मजूर हों चुके हैं। इसके पीछे कई वजहें है जैसे सुरक्षा व्यवस्था, साफ़-सफाई, महिला …

  • 9 July

    नशे में धुत युवा अब रांची के गलियों में कर रहे हैं खून खराबा 

    नशे में धुत झारखंडी युवा

    अभी कल के समाचार में झारखण्ड खबर द्वारा यह खबर लगाई गयी थी की झारखण्ड के बेरोज़गारी के आलम में हताश युवा नशे के आदि हो रहे हैं। इतिफाकन आज यह खबर भी सामने आ गयी कि नशे में धुत युवकों ने कोकर बाजार में 8 जुलाई की रात एक …

  • 8 July

    संथाल परगना के आठों अस्पताल बिना डॉक्टर के चल रहे हैं 

    संथाल परगना के अस्पतालों की ज़मीनी हक़ीकत

    संथाल परगना झारखंड राज्य की प्रशासनिक ईकाईयों में से एक है। यह झारखंड का एक प्रमंडल है जिसका मुख्यालय दुमका में है। इस इकाई में झारखंड के छह जिले – गोड्डा, देवघर, दुमका, जामताड़ा, साहिबगंज और पाकुड़ आते हैं। ब्रिटिश राज में पहले संथाल परगना नाम से ही संयुक्त बिहार …

  • 8 July

    नशे के आदि होते जा रहे हैं झारखंड के बेरोजगार युवा !

    नशे का डॉज

    नशे के लत में धकेली जा रही है झारखंड के भविष्य विज्ञान मानव का सेवक है लेकिन आज यह मात्र मुनाफ़ा कूटने का एक साधन बनकर रह गया है। मौजूदा व्यवस्था मानव के मानवीय मूल्य और मानवीय संवेदनाओं को निरंतर निगलती जा रही है। विज्ञान की ही एक विधा चिकित्सा …

  • 6 July

    बेटी बहु व बच्ची कोई भी आज झारखंड में सुरक्षित नहीं!

    बहु बेटी व बच्ची कोई सुरक्षित नहीं

    बेटी बहु व बच्ची क्यों सुरक्षित नहीं हैं झारखंड राज्य में ? जागो मृतात्माओ ! बर्बर कभी भी तुम्हारे दरवाज़े पर दस्तक दे सकते हैं। भागकर अपने घर पहुँचो और देखो तुम्हारी बेटी कॉलेज से लौट तो आयी है सलामत, बीवी घर में महफूज़ तो है। बहन के घर फ़ोन …

  • 5 July

    बच्चों को पैदल नदी पार कर जाना पड़ता है स्कूल 

    झारखंड के बच्चों के लिए कठीन डगर

    झारखंड चरही के तरिया टोला के बच्चों के लिए विद्यालय तक सात किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए कोई रास्ता नहीं है। राँची से हज़ारीबाग़ जाने के रास्ते से बिल्कुल सटे प्रखंड के इस गाँव के बच्चे हर दिन ढेबागढ़ा नदी पार कर स्कूल जाने को मजबूर हैं। वो …

  • 5 July

    स्कूल बंद कर देश में कौन सी नयी भविष्य गढ़ी जा सकती है? -जनता बेहाल -2

    स्कूल बंद

    झारखंड में बीजेपी सत्ता के 5 साल और जनता बेहाल की अगली कड़ी में स्कूल बंद…  इसी प्रकार इन्होंने मोमेंटम झारखंड के अंतर्गत राजकीय पशु हाथी तक को नहीं बख़्शा -कहा गया कि हाथी उड़ेगा -मतलब इस योजना के तहत ये नौकरी लायेंगे, नए रोज़गार का सृजन करेंगे, लेकिन ना …

  • 4 July

    बीजेपी सत्ता के झारखंड में 5 साल और जनता बेहाल

    बीजेपी सत्ता

    आज झारखंड में भाजपा का जो रूप देखा जा रहा है, वह बीसवीं सदी के यूरोप के फ़ासीवाद से मेल खाता मालूम पड़ता है। भिन्नता केवल यह है कि इन्होंने (बीजेपी सत्ता) जनवाद के आवरण को औपचारिक तौर पर हटाया नहीं हैं। इन्होंने इसके दायरे को संकुचित कर दिया है, …