भाजपा काल से चली आ रही शुक्रवार के छुट्टी व हाथ मोड़ प्रार्थना की परम्परा हेमन्त कल में ख़त्म

झारखण्ड : विद्यालयों में भाजपा काल से चली आ रही शुक्रवार काे छुट्टी व हाथ मोड़ कर होने वाली परम्परा को हेमन्त सरकार में अंततः लगा विराम. जांच चल रही है सच जल्द आयेगा सामने…  

रांची : झारखण्ड के स्कूलाें में, भाजपा काल से चली आ रही शुक्रवार काे छुट्टी व हाथ मोड़ कर होने वाली परम्परा को हेमन्त सरकार में अंततः विराम लग गया है. ज्ञात हो, गढ़वा-जामताड़ा में 43 स्कूलाें में फिर से शुक्रवार काे क्लास और रविवार काे छुट्टी हाेगी. साथ ही हाथ जोड़कर प्रार्थना भी हो रही है. 

अब तक झारखण्ड में स्कूलाें में अल्पसंख्यक बच्चाें की संख्या बढ़ने पर प्रार्थना हाथ बांधकर होती थी. और साप्ताहिक छुट्टी भी रविवार के बजाय शुक्रवार काे होती थी. हेमन्त सरकार में मामला प्रकाश में आने के बाद जिला प्रशासन द्वारा इस परम्परा को संवैधान में निहित नियम के अनुसार बदलने का आदेश दिया गया. आदेश नहीं मानने पर स्कूल प्रबंधन समितियाें की मान्यता रद्द करने की और संबंधित क्षेत्र के शिक्षा पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी गयी.

हेमन्त सरकार में दिए गए हैं जांच के आदेश

ज्ञात हो, हेमन्त सरकार द्वारा साप्ताहिक अवकाश रविवार के बजाय शुक्रवार को दिए जाने के मामले में जांच के आदेश दिए हैं. और आवश्यक कार्रवाई की बात भी कही गयी जाएगी. यह बदलाव कब हुआ है, इसकी जांच की जा रही है. इस जांच के दायरे में जामताड़ा के 50 से ज्यादा ऐसे विद्यालय हैं, जहां अल्पसंख्यक बच्चों की संख्या 70% होने के बाद ग्रामीणों के दबाव में ग्राम शिक्षा समितियों द्वारा सप्ताहिक छुट्टी रविवार के बजाय शुक्रवार को घोषित की थी.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.