झारखण्ड : प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में भाजपा केन्द्रीय जनजाति अध्यक्ष को मंच पर नहीं मिली जगह

झारखण्ड : मौकापरस्ती व शोर्टकट राजनीति के अक्स में, प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में भाजपा केन्द्रीय जनजाति अध्यक्ष समीर उरांव जैसे आदिवासी चेहरे को मंच पर जगह नहीं मिलना आदवासी समुदाय के सम्मान से खिलवाड़.

देवघर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवघर से झारखण्ड को 16800 करोड़ की सौगात दी. इस अवसर पर उन्होंने मंच से रिमोट का बटन दबाकर 12 योजनाओं की आधारशिला रखी और 13 योजनाओं का उद्घाटन किया. इसमें बड़ी योजनाओं में एम्स में 250 बेड का अस्पताल व एकेडमिक बिल्डिंग शामली है. 35 करोड़ की लागत से तैयार हंसडीहा-गोड्डा रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य का उद्घाटन  किया गया है. इसके अलावा बॉटलिंग प्लांट, गोड्डा स्टेशन में कोचिंग यार्ड, जसीडीह रेल बाइपास, मधुपुर में वाशिंग पिट आदि योजनाओं की आधारशिला रखी गयी है.


ज्ञात हो, प्रधानमंत्री मोदी के देवघर कार्यक्रम के मद्देनज़र एक तरफ जहाँ समाचार पत्रों में हुई पोस्टरबाजी – विज्ञापनों में खुलकर अंतर्कलह का सच सामने आया, वहीं भाजपा केन्द्रीय जनजाति अध्यक्ष समीर उरांव को मंच पर जगह नहीं मिलने से झारखण्ड की राजनीति गरमाई हुई है. आदिवासी समुदाय का कहना है कि मौकापरस्ती व शोर्टकट राजनीति के अक्स में आदिवासी चेहरे की अनदेखी हुई है. जो स्पष्ट रूप से आदिवासी समुदाय के सम्मान से खिलवाड़ है. और इस मामले में बाबूलाल मरांडी जी कोई बयान न आना समाज के लिए दुखद है.

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.