Breaking News
Home / News / Jharkhand / यात्रा भत्ता घोटाला -अधिकारियों ने पेश किये फ़र्ज़ी बिल : विकास सिंह मुंडा

यात्रा भत्ता घोटाला -अधिकारियों ने पेश किये फ़र्ज़ी बिल : विकास सिंह मुंडा

Spread the love

यात्रा भत्ता घोटाला -अधिकारियों ने पेश किये फ़र्ज़ी बिल : विकास सिंह मुंडा

विकास सिंह मुंडा के झारखंड मुक्ति मोर्चा में जाने के बाद से ही असर दिखने लगा है। 6 नवंबर को विकास कुमार मुंडा के आवास पर आयोजित मिलन समारोह में, विभिन्न दलों को छोड़कर न केवल सैंकड़ो पुरुषों ने झांरखण्ड मुक्ति मोर्चा पार्टी में शामिल हो सदस्य बने, बल्कि सैंकड़ों महिलाएं भी शामिल हुईं। इन सभी नये सदस्यों को विधायक विकास सिंह मुंडा ने पार्टी का अंगवस्त्र व फूलमालाओं के साथ स्वागत किया।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता चौधरी महतो ने की जबकि संचालन पंकज महतो एवं मनोज मंडल ने किया। ज्ञात हो कि  झारखंड मुक्ति मोर्चा के बदलाव महारैली में, राँची के हरमू मैदान में, दिवंगत रमेश सिंह मुंडा के पुत्र, आजसू विधायक विकास सिंह मुंडा ने, झामुमो के केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन व कार्यकारी अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की उपस्थिति में पार्टी का दामन थामे थे। दोनों सोरेन ने उन्हें झामुमो का अंग वस्त्र देकर पार्टी में स्वागत किया था। 

रैली को संबोधित करते हुए विकास मुंडा ने कहा था कि झारखंड के 19 वर्षों के इतिहास में रघुवर सरकार के पांच साल सबसे खराब रहे। उन्होंने दो टुक कहा था कि यह सरकार आज तक का सबसे बेकार सरकार है, इनका कार्यकाल झारखंड वासियों के लिए काला अध्याय रहा। झारखंड में इस डबल इंजन की सरकार का सीधा मतलब था कि दोगुनी तेजी से झारखंड को बर्बाद करना, डबल इंजन की स्पीड से झारखंड के लोगों को लूटना।

यात्रा भत्ता घोटाला क्या है 

उन्होंने आरोप लगाया कि इस सरकार में डबल इंजन की स्पीड से झारखंडी अस्मिता पर हमले हुए हैं और आजसू भी इसमें बराबर की गुनेहगार है। रैली के अंत में इन्होंने भी पत्रकारों से कहा था कि झारखंड के अधिकारियों ने फ़र्ज़ी बिल पेश कर यात्रा भत्ता घोटाला किया। चार अधिकारियों ने विदेश यात्रा की, आठ लाख खर्च हुआ और 18 लाख का बिल पेश किया गया,  उन्होंने पास दस्तावेज़ होने का दावा किया। 

Check Also

CAA

CAA और NRC समर्थन रैली घटना संदेहास्पद

Spread the love हमारे देश की मिट्टी में ‘फूट डालो और राज करो’ का बीज …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.