Breaking News
Home / News / Jharkhand / क्या आप जानते हैं देश के सबसे बड़ा जमीन हड़पने वाला बाबा कौन है ?
lala ramdev
lala ramdev

क्या आप जानते हैं देश के सबसे बड़ा जमीन हड़पने वाला बाबा कौन है ?

Spread the love

गिरीश मालवीय

क्या पतंजलि के विज्ञापनो पर लार टपकाता मीडिया यह सब बताएगा? नही, इसलिए यही पर पढ़ लीजिए…..

देश के सबसे बड़ा जमीन हड़पने वाले बाबा है लाला रामदेव, पहले के जमाने मे बाबा छोटे बच्चों को झोले में छिपाकर उठा ले जाते है अब मॉडर्न बाबा बड़े ठसके के साथ देश के हर छोटे बड़े राज्य में जाता है और वहाँ के मुख्यमंत्री और प्रशासनिक अमले को पटा कर ज़्यादा से ज्यादा जमीन उड़ाता है, ओर उद्योग लगाने के नाम पर दस तरह के धतकरम करता है।

mega food park
मेगा फ़ूड पार्क

मामला यह है कि बाबा धमकी दे रहे है कि मेगा फ़ूड पार्क को उठा कर दूसरी जगह ले जाएंगे, लेकिन सोचने वाली  बात तो यह है कि आखिर लेकर जाएगे कहाँ?, उत्तराखंड के हरिद्वार मे तो पहले से फ़ूड पार्क चल ही रहा है, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, असम, ओर राजस्थान जैसे राज्यों में फ़ूड पार्क की नींव तो उन्होंने पहले ही रख दी है वही अभी पूरे नही हो पा रहे हैं और सभी जगह यही सवाल उठेंगे तो आखिर वे जाएगे कहाँ?

दूसरी ओर जो सबसे महत्वपूर्ण बात हैं वह यह है कि जिस मेगा फ़ूड पार्क की बात की जा रही है वह तो महज़ 50 एकड़  एकड़ ज़मीन में ही खड़ा किया जाना है तो फिर ये बाकी बाकि के 405 एकड़ ज़मीन इन्हें सस्ती दर पर क्यों चाहिए?

इससे यह पता चलता है कि बाबा जमीनों के कितने भूखे हैं। इसका अंदाजा इसी से लगा लीजिये कि आज से दो साल पहले जब मध्यप्रदेश सरकार ने जब बाबा को मेगा फ़ूड पार्क के लिए पीतमपुर में 45 एकड़ जमीन देने की घोषणा की तो बाबा रामदेव ने इन्वेस्टर समिट के मंच पर बैठे उद्योगपतियों को शर्मसार करते हुए मध्यप्रदेश सरकार को ताना मारा क़ि, 45 एकड़ जमीन पर तो वह कबड्डी! खेलते है।

देका जय तो हर जगह इन्हें आवश्यकता से अधिक जमीन चाहिए होता है साथ ही सम्बंधित जमीन का टाइटिल भी इन्हें अपने ही नाम पर रजिस्टर्ड चाहिए ओर केंद्र सरकार द्वारा मेगा फूड पार्क स्थापना के लिए दी जाने वाली 150 करोड़ रुपये की सब्सिडी भी ये ही हड़प जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के धमकी प्रकरण में भी ठीक यही बात हुई है ……सरकारी स्कीम में मनमाने परिवर्तन कीजिये ओर अधिक से अधिक जमीन पर कुंडली जमाइये। यही है इनकी मोडस ऑपरेंडी।

नोएडा में बाबा रामदेव की कंपनी को जो जमीन दी गई है, वह ज़मीन पहले 30 साल के पट्टे पर कई किसानों को दी गई थी। अखिलेश सरकार के काल में लाला रामदेव ने बिना इजाजत वहाँ 6000 पेड़ कटवा दिए। ये मामले अभी इलाहाबाद हाईकोर्ट में चल ही रहा है लेकिन इस संबंध में कोई पर्यावरण प्रेमी संज्ञान लेना नही चाहता।

अब आते हैं वर्तमान घटनाक्रम पर …..कल बालकृष्ण ने ट्वीट किया कि आज ग्रेटर नोएडा में केन्द्रीय सरकार से स्वीकृत मेगा फूड पार्क को निरस्त करने की सूचना मिली। श्रीराम व कृष्ण की पवित्र भूमि के किसानों के जीवन में समृद्धि लाने का संकल्प प्रांतीय सरकार की उदासीनता के चलते अधूरा ही रह गया पतंजलि ने प्रोजेक्ट को अन्यत्र शिफ्ट करने का निर्णय लिया।

इस ट्वीट का जवाब देने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बालकृष्ण से देर रात टेलीफोन पर बात की और संबंधित नीति के तहत उन्होंने उचित कार्यवाही का आश्वासन भी दिया।

अब आप बालकृष्ण के खेल को समझिये। सीधी बात तो यह है कि वह चाहते हैं कि योगी सरकार 50 एकड़ की भूमि के टाइटल पतंजलि के नाम करने के बहाने अधिक से अधिक भूमि का टाइटिल भी पतंजलि के ही नाम हो जाए… पतंजलि ग्रुप के प्रवक्ता एस के तिजारावाला कह रहे है कि ‘नोएडा में बनने वाली पतंजलि फूड पार्क की जमीन का टाइटल सूट के लिए केंद्र सरकार ने दो बार नोटिस भेजा, लेकिन योगी सरकार ने पतंजलि को वह टाइटल सूट नहीं सौंपा। अब दबाव में आकर केबिनेट के बैठक में योगी सरकार सम्बंधित जमीन का टाइटिल सौपने के लिए राजी हो गयी है। लेकिन सब मिला जुला खेल प्रतीत हो रहा हैं।

इसी प्रकार का एक मामला मध्यप्रदेश के मन्दसौर में देखने को मिलता है जहाँ प्रस्तावित फ़ूड पार्क को बनाने वाली कम्पनी ठीक ऐसा ही चाह रही थी जैसे लाला रामदेव चाह रहे हैं, लेकिन वहां के स्थानीय कलेक्टर ने जमीन का नामांतरण कंपनी के नाम पर करने से इंकार कर दिया ओर इस मामले को लेकर वह हाईकोर्ट भी चले गए। मामला कोर्ट में होने से जब तक इस पर कोई फैसला नहीं आता  फूड पार्क का काम आगे नहीं बढ़ सकता … लेकिन मध्यप्रदेश के मन्दसौर का मामला पतंजलि से संबंधित नही था इसलिए यह सम्भव हो पाया यहाँ तो केंद्र के साथ राज्य सरकारें ओर मीडिया तीनो ही गोद में बैठे हुए हैं। इतनी बात कहने की हिम्मत किसकी है?

मसलन सत्तासीनों से सांठ-गांठ कर देश भर में मेगा फ़ूड पार्क के नाम दोगुनी-चौगुनी जमीनों को बेहद ही सस्ती दर पर खरीद कर ही पतंजलि इतनी जल्दी सफलता की सीढियाँ चढ़ी है। इसमें कोई किन्तु-परन्तु नहीं!

इस लेख से सम्‍बन्धित कुछ ओर खबरें

  • योगी सरकार से नाखुश हुए रामदेव, UP से शिफ्ट होगा पतंजलि फूड पार्क https://khabar.ndtv.com/news/india/baba-ramdev-unhappy-from-yogi-government-patanjali-food-park-shifted-from-up-1863026
  • जमीन नामांतरण से इंकार, मंदसौर में 500 करोड़ का मेगा फूड पार्क अधर में https://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/bhopal-refusal-to-land-transfer-50-crore-mega-food-park-in-mandsaur-district-in-the-middle-1743075
  • पतंजलि को गलत तरीके से दी गई जमीन, टूट सकता है पतंजलि प्लांट https://www.patrika.com/indore-news/indore-high-court-decision-on-patanjali-plant-madhya-pradesh-2209492/
  • बाबा रामदेव की पतंजलि को 4500 एकड़ जमीन देने पर कोर्ट ने मांगा जवाब, https://www.jansatta.com/rajya/uttar-pradesh/noida/4500-acre-land-to-baba-ramdev-patanjali-yoga-limited-allahabad-high-court-asks-yamuna-expressway-authority-to-explain/471742/
  • पतंजलि को 800 एकड़ जमीन देगी महाराष्ट्र सरकार, 25 हजार करोड़ का है प्रोजेक्ट https://livecities.in/trending/hindi-news-patanjali-maharashtra-govt-ramdev/
  • पतंजलि से जुड़ी जानकारी देने पर दो अधिकारियों का ट्रांसफर, MD ने किया था प्रमोशन का वादा https://www.amarujala.com/india-news/two-information-officers-transferred-over-giving-rti-reply-ramdev-patanjali-madc
  • जम्मू-कश्मीर सरकार ने पतंजलि को दी जमीन – https://www.nedricknews.com/jammu-kashmir-government-gives-land-to-patanjali/
  • असम में पतंजलि को जमीन देने से नाराज उल्फा http://www.shilpkar.org/असम-में-पतंजलि-को-जमीन-देन-24545
  • पतंजलि को जमीन देकर मुश्किल में फंस सकते हैं महाराष्ट्र CM ! http://www.livehindustansamachar.com/livehindustansamachar-9960-53-patanjali-can-get-trapped-in-the-land-maharashtra-cm.html
  • पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट को मिली 77 एकड़ भूमि वापस लेने की तैयारी http://expertmedianews.com/patanjali-yogpeeth-trust-got-ready-to-withdraw-77-acres-of-land/
  • असम में रामदेव का पतंजलि फूड पार्क बना जंगली जानवरों के लिए मुसीबत, वन विभाग करेगा एफआईआर https://sabrangindia.in/article/patanjali-brings-disaster-wildlife-assam-forest
  • 1
    Share

Check Also

गिरिडीह

गिरिडीह समेत झारखण्ड की रैयतों की भूमि पर रघुवर सरकार का डाका 

Spread the loveगिरिडीह समेत झारखण्ड की रैयतों सावधान  इसमें कोई संदेह नहीं कि फासीवादियों की …

ज़मीन लूट

ज़मीन लूट की मंशा से होने वाली ज़माबंदी सवालों के घेरे में

Spread the loveझारखण्ड में ज़मीन लूट का मतलब  झारखंड की रघुबर सरकार व केंद्र की …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.