Breaking News
Home / News / Jharkhand / नालायक बेटा : झारखण्ड का ‘ नालायक बेटा ‘ कौन?!!!
नालायक बेटा!
झारखण्ड का नालायक बेटा!

नालायक बेटा : झारखण्ड का ‘ नालायक बेटा ‘ कौन?!!!

Spread the love

नालायक बेटा कौन ? 

एनडी टीवी पत्रकार रवीश कुमार ने अपने फेसबुक वॉल पर शायद ठीक ही लिखा था ‘आज का मीडिया गोद में बैठना पसंद करता है। इसलिए मैं उसे ‘गोदी मीडिया’ कहता हूँ। इस मीडिया से उम्मीद छोड़ दीजिये। राजनीतिक हित के लिए धर्म का इस्तमाल कर ‘काला धर्म’ पैदा किया जा रहा है। सन्यासी को नेता से दूर रहना चाहिए। हालत ये हो गई है कि नेता को फेंकू और न्यूज़ को फेक कहा जा रहा है। यही सच्चाई है। आज मीडिया की सबसे बड़ी चुनौती फेक न्यूज़ है। मीडिया अपनी रेटिंग के लिए सेना का इस्तमाल कर रही  है। बापू, मुझे लोग कहते हैं मैं सनातनी नहीं हूँ। मैं कहता हूँ मैं सनातनी तो हूँ, तनातनी नहीं हूं। मुझे झगड़ा पसंद नहीं है। मोहब्बत पसंद है’। झारखण्ड में लगता है ऐसा ही चित्र चरितार्थ हो रहा है! झारखण्ड न्यूज़ चैनल ‘न्यूज़ 11’ ने चाटुकारिता की हद पार करते हुए सिल्ली झामुमो विधायक प्रत्याशी सीमा देवी के व्यान को तोड़ मरोड़ कर  पेश किया। ऐसा करना भारतीय महिला के आत्म सम्मान पर प्रहार हो सकता है। क्या न्यूज़ 11 नारी का सम्मान करना नहीं जानती या ये समझे कि चंद सिक्कों के भार तले दबकर पत्रकारिता की मर्यादा भूल गयी है? उनका (सीमा देवी) कहना था नालायक बेटे (सुदेश महतो) जब निक्कमे हो जाते हैं तो बहु–बेटियों को मजबूरन समाज/देश को बचाने के लिए घर से बाहर निकलना पड़ता है।

क्यों न कहे इन्हें नालायक बेटा ! सवाल सिल्लीवासी, एवं हर एक झारखंडीओ से :

1) भूमि अधिग्रहण हुआ तब नालायक बेटा चुप थे…!  2) अडानी के भूमि अधिग्रहण प्रकरण में जबरन गाँव खाली करवाया तब भी नालायक चुप थे..!  3) जब अपने अधिकारों के लिए आदिवासी, मूलवासी विरोध कर रहे थे तो उन्हें झुठे केस में जेल जाना पड़ा तब भी नालायक चुप थे…! 4) खूंटी गोली कांड प्रकरण में भी नालायक चुप ही रहने में अपनी भलाई समझे…! 5) गोला गोली कांड में भी नालायक की चुप्पी बरकरार रही..! 6) बड़कागांव गोली कांड में भी नालायक ने अपने चुप रहने की परम्परा दुहराई…! 7) आखिर भात-भात कहते संतोषी ने अपनी माँ कि गोद में दम तोड़ दी तब भी नालायक चुप था…! 8) झारखण्ड के किसानों ने फाँसी लगयी तब भी /नालायक चुप रहे…! 9) धर्मान्तरण के नाम पे झारखंडियों को आपस में लड़ते देखकर भी नालायक चुप रहा…! ) पथलगढ़ी की परंपरा का उनको जानकारी होते हुए भी जब भाजपा सरकार क़ानून के नाम पर आदिवासी, मुलवासी के मौलिक अधिकारों की धज्जियाँ उड़ा रहे थे, ऐसे अपराध को देख कर भी नालायक चुप रहे…! 11) स्थानीय नीति में षड़यंत्र कर भाजपा सरकार जब फेर बदल कर रही थी तब भी सरकार में होते हुए भी चुपचाप यह नालायक बेटा देखते रहे और फिर बाद में झारखंडी जनता को बेवकूफ बनाने के लिए नौटंकी किए…! 11) भाजपा एवं आजसू की समिलित सरकार दूसरे राज्य में झारखण्डी  युवायों का प्रवास का षड़यंत्र, रोजगार के नाम पर मात्र 6000/- रूपये वेतन मान पर दोहन कर रही थी तब भी नालायक का झारखण्डी युवा प्रेम नहीं दिखा! 12) झारखण्ड की खनिज-सम्पदा को जब भाजपा सरकार कानूनी अमली जामा पहना लूटने का माध्यम तेयार कर रही थी  तब भी ये नालायक ??? रहे!

झारखण्ड के इस नालायक बेटा से और भी कई सवाल है आखिर ये साहब कब तक चुप रहकर दलाली करते रहेंगे और राज भोगते! रहेंगे। जब से झारखण्ड बना है तब से आज तक लगातार ये झारखण्ड को दीमक की तरह चाट रहे हैं  है। इन्होनें झारखण्ड के लिए अबतक किया क्या है? क्या ये सब घटनाएं न्यूज़ 11 को नहीं दिखती। सिक्कों के चमक के आगे दिखेगी भी कैसे…

तभी तो झामुमो विधायक प्रत्याशी सीमा देवी मजबूरन कहती है, ‘ सुदेश साहेब आपको बता दूं कि आपकी ओछी और घटिया हरकतों से सिल्लीवासी भली-भाँति परिचित हैं। सिल्ली के संस्कार में बहू-बेटी के इज्जत से खिलवाड़ करने की परंपरा नहीं रही है, आपने ने सिल्ली की परम्परा के साथ खिलवाड़ किया है। इसके लिए यहाँ की जनता आपको दंड! देगी। माफ़ नहीं करने वाली है। जिन सखी मंडलों की दीदियों को आजतक बरगला कर सिर्फ भीड़ का हिस्सा बना रखे हो वही दीदियां सिल्ली की सड़क पर आपका चलना दूभर कर देगी। और एक बात सुदेश साहब,  तुम्हारी तरह मै नीचता पे कभी नहीं उतर सकती, अमित महतो जैसी सख्शियत पर सबों को गर्व है। आखिर उन्हें सजा भी हुई है तो जनमुद्दों पर लड़ने के कारण। कानून और मीडिया पर जो आज करोड़ों लूटा रहे हो वह पैसा जनता का है, तुमने सरकारी योजनाओं में से लूट कर इकट्ठा की है। ये सब जनता भली भांति समझ रही है…

  • 6
    Shares

Check Also

vinod bihari mahto

सुदेश महतो क्यों कर रहे हैं कुड़मी महापुरुषों का अपमान !

Spread the love  वो ठग है जो जगजाहिर है फिर भी अपनापन का ढोंग रचाया, …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: