झारखण्ड में बलात्कारी हैं बेलगाम!

Share on facebook
Share on telegram
Share on twitter
Share on whatsapp

नेल्सन मंडेला ने कहा था कि किसी समाज का वास्तविक आकलन इससे होता है कि वह अपनी स्त्रियों और बच्चों के साथ कैसा व्यवहार करता है। बीते कुछ दिनों से झारखण्ड में दुष्कर्म की घटनाएं लगातार चर्चा में हैं। इन घटनाओं पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भी ध्यान दिया है और कुछ ने तो भारत पर रेप रिपब्लिक का ठप्पा लगाने की भी कोशिश की है। 2018 का मौजूदा माहौल महिला सुरक्षा एक बड़ा मसला बना हुआ है। महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्रवाई के साथ जरूरी उपचारात्मक कदम उठाने की भी जरूरत है लेकिन झारखंड में बेलगाम अपराध पर लगाम लगाने में पुलिस के पसीने छूट रहे हैं। एक तरफ नक्सलियों की चुनौती है तो दूसरी तरफ बेलगाम अपराधी। लिहाजा आम लोग अपराध की तपिश में झुलस रहे हैं। झारखण्ड प्रदेश भाजपा और आजसू की सरकार पूरी तरह से फ़ैल नजर आ रही है।

जुलाई 2014 में झारखंड के बोकारो जिले में जिस प्रकार पंचायत के आदेश पर एक नाबालिग लड़की के साथ हुए दुष्कर्म का मामला संसद में गूंजा। पूरे सदन में एक सुर से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग के बाद सरकार ने भरोसा दिया कि इस संबंध में सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे तब झारखंडियों को लगा था कि बलात्कार जैसे मामलों पर झारखण्ड में कुछ अंकुश लगेगा पर सरकार ने एक बार फिर झारखण्ड की भरोसे को चूर कर दिया है क्योकि मौजूदा समय में बलात्कार जैसी घटना घटने के बजाय बढ़ी है। यकीन नहीं होता तो खुद ही आंकड़ो पर गौर कर लें।

झारखण्ड सरकार की वेबसाइट (https://jhpolice.gov.in/) की ही माने तो झारखण्ड के लिए चौकाने वाली खबर है ।

झारखण्ड में वर्ष 2017-2018 में घटी बलात्कार की घटनाएँ!

झारखण्ड में वर्ष 2014 से 2018 तक में घटने वाली बलात्कार की घटना पर नजर डालते है। चौकियेगा मत झारखण्ड सरकार की अनेक परिभाषाओं में से एक ये भी है।

  1. जून 2014, उत्तर-पूर्व दिल्ली के भजनपुरा इलाके में अज्ञात लोगों द्वारा झारखंड की दो लड़कियों के साथ बलात्कार हुआ।
  2. जुलाई 2015, लातेहार जिले के मनिका थाना क्षेत्र में आठवीं की छात्रा के साथ जबरन दुष्कर्म किया है।
  3. अगस्त, 2015 पूर्वी सिंहभूम रेप की शिकार हुई 9 साल की पीड़ित बच्ची के इलाज के लिए पिता को सबसे करीब के सरकारी हॉस्पिटल में ले जाने के लिए भी हर हफ्ते 4 किलोमीटर तक पैदल दौड़ लगानी पड़ती है। हाई कोर्ट को स्वत: संज्ञान लेना पड़ता है।
  4. नवम्बर 2015, झारखंड के पूर्वी सिंहभूम (जमशेदपुर) जिले के मुसाबनी में आदिम जनजाति की 10 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म, गला घोंटकर हत्या भी कर दी गयी।
  5. फरवरी 2016, झारखंड के जमशेदपुर में एक नाबालिग रेप पीड़िता से दोबारा रेप हुआ। 15 साल की पीड़िता का यहां के एमजीएम अस्पताल में इलाज चल रहा था। अस्पताल परिसर में ही यहां के एक सिक्योरिटी गार्ड ने कथित तौर पर पीड़िता के साथ दोबारा रेप किया।
  6. फरवरी 2016, में ही गढ़वा जिले के मझिआंव थाना के सोनपुरवा गांव मे बारह वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म हुआ।
  7. मार्च 2016,  झारखंड के देवघर जिले में छह युवकों ने एक महिला को शुक्रवार को कथित रूप से ट्रेन से उतारकर सामूहिक दुष्कर्म किया।
  8. नवम्बर 2016, तोपचांची झील में पिकनिक मनाने आए एक परिवार को बंधक बना कर मां के सामने उसके 16 साल की बेटी के साथ गैंग रेपा हुआ। परिवार करीब 50 घंटे बंधक रहा है इस दौरान  दो बार पीड़िता के साथ गैंग रेप किया गया।
  9. अप्रैल 2017, सरायकेला में एक बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ, आरोपी की ग्रामीणों ने पीट पीट कर मार डाला।
  10. जून 2017, मुक्ता (बदला नाम) बैंक से पैसे निकालने के बाद तुपुदाना चौक पहुंची तभी एक परिचित कार से उसे घर तक छोड़ने की बात करता है इंकार करने पर कार में पहले से मौजूद युवकों के सहयोग से उसे जबरन कार में बैठाकर  हरदाग के जंगल में जान मारने की धमकी देकर परिचित समेत तीन लोगों ने उसके साथ रेप किया।
  11. सितम्बर 2017,  झारखंड के दुमका में आठ युवकों ने एक लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस के मुताबिक, यह घटना बुधवार रात तब घटी, जब 17 वर्षीय लड़की अपने प्रेमी के साथ स्कूटी से जा रही थी।
  12. नवम्बर 2017 झारखंड के लातेहार जिले में शुक्रवार को एक महिला के साथसामूहिक दुष्कर्म के बाद उसके पति सहित उसकी हत्या कर जाती है। दंपति के तीन बच्चे हैं।
  13. दिसम्बर 2017,झारखंड के कोडरमा जिले के एक स्कूल में 7 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रिंसिपल ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूल करते हुए बेहद शर्मनाक बयान दिया कि उसके द्वारा की गई यह एक छोटी सी गलती थी, क्योंकि उसने बच्ची के साथ इंटरकोर्स (सेक्स) नहीं किया। 67 साल के एस. जेवियर ने अपर केजी में पढ़ने वाली इस बच्ची को स्कूल के टॉयलेट में ले जाकर कपड़े उतार उसके साथ अश्लील हरकत की।
  14. 9 जनवरी 2018 झारखंड के पाकुड़ जिले में लिट्टीपाड़ा थाना क्षेत्र के फुलपहाड़ी गांव में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म कर हत्या कर दी गयी। मिली जानकारी के मुताबिक, रामदेव ठाकुर की 13 वर्षीय बेटी छोटी कुमारी सोमवार सुबह से ही घर से गायब थी।
  15. मार्च 2018,  राजधानी रांची के नामकुम थाना क्षेत्र के टेलाइपीढ़ी गांव में तीन छात्राओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म का हुआ। इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने एक आरोपी बिरसा को जमकर पीटा, उपचार के दौरान दौरान उसकी मौत हो गई।
  16. 13 अप्रैल 2018, झारखंड के बोकारो जिले में एक महिला से सामूहिक बलात्कार हुआ। इस मामले में कुल पांच लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की। रामगढ़ के एसडीपीओ ने बताया कि पीड़िता गोला प्रखंड की निवासी है।
  17. मई 2018, झारखंड के चतरा जिले के ईटखोरी थान इलाके के राजा केंदुआ गांव में सम्मत रविदास उर्फ पिट्टो की नाबालिग बेटी गांव के ही कुछ लोगों ने गैंगरेप किया। इसके विरोध में जब पंचायत बुलाई गई तो खुद को अपमानित महसूस करते हुए उन दबंगों ने घर में घुसकर दिनदहाड़े पीड़ित की जलाकर निर्ममता से हत्या कर दी साथ पीडिता के पिता व मां की पिटाई की।

Leave a Replay

DON’T MISS OUT ON NEW POSTS

Don’t worry, we don’t spam. Click button for subscribe.