किसानों को बड़ी राहत : लॉकडाउन में खुलेंगी कृषि मशीनरी-कलपुर्जों की दुकानें, हाईवे के पेट्रोल पंप भी होंगे चालू

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

[ad_1]

किसानों को बड़ी राहत : लॉकडाउन में खुलेंगी कृषि मशीनरी-कलपुर्जों की दुकानें, हाईवे के पेट्रोल पंप भी होंगे चालू

गृह मंत्रालय ने कृषि उपज की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए उठाए कदम (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए देश में जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच सरकार ने खेती और किसानी को लेकर कई तरह की राहत दी है. इसके पीछे सरकार का उद्देश्य किसानों की मुश्किलों को दूर करना और देश में खाद्यान्न की की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करना है. गृह मंत्रालय ने अपने नए आदेश में कहा, “कृषि मशीनरी (Farming Machinery और उनके कलपुर्जों (Components) की दुकानें लॉकडाउन के दौरान खोली जा सकेंगी. इन चीजों की आपूर्ति करने वालों को भी इसमें शामिल किया गया है. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने एक बयान में यह बात कही. 

इसके अलावा, हाईवे पर ट्रकों की मरम्मत करने वाले गैरेज और पेट्रोल पंपों को भी चालू किया जा सकेगा ताकि कृषि उपज का परिवहन सुगमता से हो सके. इसी प्रकार, चाय बागानों पर ज्यादा से ज्यादा 50 प्रतिशत कर्मचारियों को रखते हुए काम किया जा सकेगा. 

विज्ञप्ति में गृह मंत्रालय ने यह भी कहा कि इस दौरान, सामाजिक दूरी (Social Distancing) बनाए रखने का ध्यान रखा जाए और कोरोनावायरस से बचाव के लिए समुचित व्यवस्थाएं की जाएं. जिला प्रशासन से इस संबंध में निगरानी करने के लिए कहा गया है. 

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) से अब तक 68 लोगों की जानें जा चुकी हैं और संक्रमितों की संख्या 2900 के पार पहुंच गई है. देशभर में अभी तक कुल संक्रमित 2902 हो गए हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान 601 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इन्हीं 24 घंटे के भीतर 12 मौतें भी हुईं. एक राहत वाली खबर यह है कि इसके संक्रमण से कुल 184 लोग ठीक हो चुके हैं. कोरोना के खतरे को देखते हुए देशभर में 14 अप्रैल तक के लॉकडाउन किया गया है. 

[ad_2]

Source link

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on whatsapp

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts